आप में से भी कई ऐसे लोग होंगे, जो ओपनएआई के AI टूल ChatGPT का इस्तेमाल करते होंगे.

आप में से भी कई ऐसे लोग होंगे, जो ओपनएआई के AI टूल ChatGPT का इस्तेमाल करते होंगे. लेकिन, क्या आपको पता है कि ये एआई टूल दुनिया में बिजली संकट की वजह बन सकते हैं. एक रिपोर्ट के मुताबिक, OpenAI का एआई टूल चैटजीपीटी हर घंटे 5 लाख किलोवॉट बिजली की खपत कर रहा है. एवरेज निकाला जाए तो रोजाना ChatGPT अमेरिकी घरों की तुलना में 17 हजार गुना अधिक बिजली की खपत कर रहा है. यह खपत 20 करोड़ यूजर्स की रिक्वेस्ट पर हो रही है. अगर यह आंकड़ा बढ़ता है तो बिजली की खपत भी खुद ब खुद बढ़ जाएगी. बिजनेस इनसाइडर से बातचीत में डाटा वैज्ञानिक एलेक्स डी व्रीज ने बताया कि गूगल हर सर्च में जनरेटिव एआई को शामिल करता है. एलेक्स डी व्रीज ने आगे बताया कि यह साल में लगभग 29 बिलियन किलोवाट प्रति घंटे की खपत कर सकता है, जो केन्या, ग्वाटेमाला और क्रोएशिया जैसे देशों की वार्षिक बिजली खपत को पार कर जाएगा.

#AI #Electricity #ChatGPT #OpenAI #RTVNews