एसएपीटी ने देवभूमि में सरकारी फिजीयोथेरेपी कॉलेज, फिजीयोथेरेपी काउंसिल एवं सोटो अंगदान संस्थान के लिए मा०मुख्यमंत्री को सौपा ज्ञापन

एसएपीटी ने देवभूमि में सरकारी फिजीयोथेरेपी कॉलेज, फिजीयोथेरेपी काउंसिल एवं सोटो अंगदान संस्थान के लिए मा०मुख्यमंत्री को सौपा ज्ञापन

स्टूडेंट असोसिएशन आफॅ फिजियोथेरेपी (एसएपीटी इंडिया ) एवं एनबीएफ के राष्ट्रीय अध्यक्ष व पीजीआई चंडीगढ के फिजीयोथेरेपीसट डा० अनिरुद्ध उनियाल ने प्रदेश में मूलभूत फिजीयोथेरेपी एवं स्वास्थ्य सुविधाओं को लेकर उत्तराखंड के मुख्यमंत्री श्री पुष्कर सिंह धामी को ज्ञापन सौपा। उन्होंने श्री हरीश कोठारी जी, कॉर्डिनेटर मा० मुख्यमंत्री उत्तराखंड जी को मांग पत्र सौपा और तीन मुख्य मूल माँगे प्रदेश के स्वास्थ्य सुविधाओं को दुरूस्त करने के लिए रखी। जिनमें मुख्यतः नेशनल कमीशन फार एलाएड एंड हेल्थकेयर प्रोफेशनल (एनसीएएचपी एक्ट 2021) का प्रदेश में क्रियान्वन – फिजीयोथेरेपी स्टेट काउंसिल का गठन , जिससे प्रदेश में प्रोफेसन नियमानुकूलित तरीके से चले, प्रदेश में प्रथम सरकारी फिजीयोथेरेपी कालेज का निर्माण जिससे प्रदेश मे कुशल फिजीयोथेरेपीसट का प्रशिक्षण हो सके, साथ ही प्रदेश में सोटो – अंगदान के लिए संस्थान का गठन जिससे प्रदेश को अंग प्रत्यारोपण के समय दूसरे प्रदेश पर निर्भर
न रहना पड़े।इस मौके पर डा० अनिरुद्ध उनियाल जी ने बताया कि दिन प्रतिदिन लाइफस्टाइल डिस्ऑर्डर बढ़ रहे हैं और प्रदेश को कुशल फिजीयोथेरेपीसट की अत्यंत आवश्यकता हैं जिसके लिए प्रदेश में सरकारी फिजीयोथेरेपी कॉलेज व काउंसिल का होना अति आवश्यक है , साथ ही उन्होने बताया की मिशन जीवन रेखा के माध्यम से एनबीएफ अंगदान के प्रति जागरूकता अभियान चला रही हैं लेकिन प्रदेश को सोटो की अत्यंत आवश्यकता है। साथ ही उन्होने बताया कि मा० मुख्यमंत्री जी ने आश्वासन दिया कि जल्द ही उत्तराखंड सरकार इस ऐतिहासिक कार्य को करने जा रही है जिससे प्रदेश की मूलभूत स्वास्थ्य सुविधाएँ दुरूस्त हों और आमजनमानस स्वास्थ्य लाभ प्राप्त करे।