क्या हिमाचल में गिर जाएगी कांग्रेस सरकार? राज्यसभा चुनाव में क्रॉस वोटिंग से अटकलें तेज

क्या हिमाचल में गिर जाएगी कांग्रेस सरकार? राज्यसभा चुनाव में क्रॉस वोटिंग से अटकलें तेज

Himachal Rajya Sabha Election: एक राज्यसभा सीट पर आज वोटिंग हुई. कांग्रेस ने अभिषेक सिंघवी को उम्मीदवार बनाया. वहीं BJP ने हर्ष महाजन को टिकट दिया. इस चुनाव में क्रॉस वोटिंग का दावा किया जा रहा है.

Himachal Pradesh Rajya Sabha Election: हिमाचल प्रदेश राज्यसभा चुनाव में सत्तारूढ़ कांग्रेस को बड़ा झटका लगता दिख रहा है. सूत्रों ने बताया कि 6 कांग्रेस विधायकों ने क्रॉस वोटिंग की है. यानि कि उन्होंने बीजेपी के उम्मीदवार हर्ष महाजन को वोट किया. कांग्रेस ने सुप्रीम कोर्ट के वरिष्ठ वकील अभिषेक मनु सिंघवी को उम्मीदवार बनाया है.

सूत्रों ने बताया कि इस तरह कांग्रेस उम्मीदवार सिंघवी को 34 वोट मिल सकते हैं. बीजेपी के 25, निर्दलीय 3 और कांग्रेस के 6 मिला कर हर्ष महाजन को भी 34 वोट मिलने की संभावना दिख रही है. कांग्रेस सूत्रों के मुताबिक सुधीर शर्मा, राजेंद्र राणा, देवेंद्र भुट्टो, चैतन्य शर्मा, रवि ठाकुर, इंद्र दत्त लखनपाल के द्वारा क्रॉस वोटिंग की आशंका है.

सुक्खू सरकार पर संकट के बादल

अब परिणाम भी दावों के मुताबिक ही आए तो राज्य की सुखविंदर सिंह सुक्खू सरकार पर संकट के बादल छा सकते हैं. इस बीच एबीपी न्यूज़ से खास बातचीत करते हुए हिमाचल के पूर्व सीएम और बीजेपी के वरिष्ठ नेता जयराम ठाकुर ने कहा है कि सुक्खू बहुमत खो चुके हैं. उन्हें इस्तीफा दे देना चाहिए.

हर्ष महाजन का दावा

वहीं बीजेपी के उम्मीदवार हर्ष महाजन ने कहा कि सुक्खू सरकार से कोई भी खुश नहीं है. हिमाचल में सरकार बदलने वाली है. इन दोनों ही बयानों के बाद हिमाचल में सियासी अटकलें शुरू हो गई है.

प्रतिभा सिंह के बयान से टेंशन

बीजेपी के दावों के बीच हिमाचल प्रदेश कांग्रेस की प्रमुख और सुक्खू से नाराज बताई जा रहीं प्रतिभा सिंह के बयान ने पार्टी को असमंजस में डाल दिया है. उन्होंने कहा कि विधायकों की नाराजगी स्वभाविक है. विधायकों को लगता था कि सरकार कुछ कर सकती थी.

हालांकि उन्होंने यह भी कहा कि हम स्थिति का सामना करेंगे. हम नैया पार लगा लेंगे, हमारे पास बहुमत है. हमें पता था कि वे (बीजेपी) धनबल का इस्तेमाल करेंगे. मंडी से सांसद प्रतिभा सिंह ने कहा कि यह कांग्रेस के लिए संकट की घड़ी है. भारतीय जनता पार्टी ने चुनावी मैदान में अपना प्रत्याशी उतारा हुआ है. बीजेपी के उम्मीदवार हर्ष महाजन के साथ केंद्र सरकार का आशीर्वाद है. ऐसे में वे भी कॉन्फिडेंट हैं.

विक्रमादित्य सिंह ने क्या कहा?

वहीं हिमाचल प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष प्रतिभा सिंह के बेटे और सुक्खू सरकार में मंत्री विक्रमादित्य सिंह ने कहा कि नतीजों से ही सब साफ होगा. अगर क्रॉस वोटिंग हुई है तो ये चिंता का विषय है. बीजेपी द्वारा सरकार गिराने के दावों पर उन्होंने कहा कि समय आने पर बोलूंगा. नतीजों के बाद खुल कर बोलूंगा.

क्या बोले सीएम?

वहीं तमाम दावों के बीच हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री सुखविंदर सिंह सुक्खू ने कहा कि कांग्रेस का कोई विधायक बिका नहीं होगा तो हमें 40 वोट मिलेंगे. शाम को गिनती है. तभी कुछ बोलेंगे.

क्या है हिमाचल में समीकरण?
हिमाचल प्रदेश विधानसभा में 68 विधायक हैं. इन सभी ने राज्यसभा चुनाव के लिए वोट किया है. कांग्रेस के 40 विधायक हैं. वहीं बीजेपी के 25 विधायक हैं. वहीं नालागढ़ से कृष्ण लाल ठाकुर, देहरा से होशियार सिंह और हमीरपुर से आशीष शर्मा निर्दलीय विधायक हैं.

राज्य में सरकार बनाने के लिए किसी भी दल को 35 विधायकों की जरूरत होती है. राज्यसभा चुनाव की तरह की अगर कांग्रेस के ये छह विधायक आगे भी बागी रुख अपनाते हैं तो सुक्खू की सरकार संकट में आ सकती है.