खिल गाँव में तेंदुआ का आतंक

पांवटा साहिब

कांटी मशवा में तेंदुआ का आतंक

एक बकरी को उतारा मौत के घाट ग्रामीणों में दहशत

वन विभाग के कर्मचारी सो रहे हैं घोर निंद्रा में

कांटी मशवा में एक बड़ा मामला सामने आया है जिसे सुनकर आपका भी रोंगटे खड़े हो जाएंगे दरअसल यहां पर तेंदुए का आतंक इस कदर बढ़ गया है कि लोग अपने आप को सुरक्षित महसूस नहीं कर पा रहे हैं कांटी मशवा के खिल गांव में तेंदुए ने एक बकरी को मौत के घाट उतार दिया इसके बाद लोगों में दक्ष मच गई।

जानकारी मुताबिक गांव के लोगों ने बताया कि जंगल में बकरियां छोड़ने गई थी इस दौरान तेंदुए ने एक बकरी को अपना शिकार बनाया वहीं लोगों ने मीडिया के कैमरे ऑन होते बताया कि इस परिवार की पहले भी 8 से 10 बकरियां तेंदुआ मौत के घाट उतर चुका है लेकिन इस तेंदुए को पकड़ने का कोई भी जरिया वन विभाग के पास नही है।

ऐसे में वन विभाग के कर्मचारियों पर भी सवाल खड़े उठाते हैं कि सरकार उन्हें तनखा तो दे रही है उसके बावजूद भी कर्मचारी इधर-उधर भागने में अपना समय व्यतीत कर रहे हैं उन्हें लोगों की कोई चिंता नहीं है लंबे समय से यह परेशानियां लोगों को झेलनी पड़ रही है लेकिन वन विभाग के अधिकारी अपने काम पर लापरवाही बढ़ाते हैं जिसकी खामियांजा यहां के लोगों को झेलनी पड़ती है।

 

बाईट ग्रामीण