डीसी सिरमौर के आदेशों को प्रधान दिखा रहा ठेंगा- ग्रामीण,3 लाख की राशि डकार गया प्रधान महिलाओं ने लगाए आरोप।

डीसी सिरमौर के आदेशों को प्रधान दिख रहा ठेंगा- ग्रामीण

  • 3 लाख की राशि डकार गया प्रधान महिलाओं ने लगाए आरोप

इन चौंकाने वाली तस्वीर देखकर आप भी हैरान हो गए होंगे कि ऊपर आसमान तो नीचे खाई और बीच में फंसे लोग कैसे आवाजाही कर रहे हैं दरअसल यह तस्वीर उद्योग मंत्री हर्षवर्धन चौहान के विधानसभा क्षेत्र सखोली पंचायत की है जहां पर रोजाना स्कूल छात्रा जान जोखी में डालकर आवाजाही करते हैं ऐसे में अभिभावकों को रोजाना अपने बच्चों का खतरा बना रहता है।

जानकारी मुताबिक सखोली पंचायत के प्राइमरी स्कूल के लिए रोजाना छात्र और छात्राएं इस खतरनाक रास्ते से आवाजाही करते हैं वहीं पिछले वर्ष हमारे चैनल ने इस खबर को प्रमुखता से उठाया इसके बाद DC sirmiur ने ₹300000 की राशि स्वीकृत की। ताकि गांव से स्कूल तक का रास्ता बनाया जा सके लेकिन पंचायत प्रधान ₹300000 डकार गया इस तरह के आरोप गांव की गोसाई महिलाओं ने लगाए हैं।

महिलाओं ने बताया कि यह इतना खतरनाक रास्ता है कि कोई गिर गया तो जान बचनी नामुमकिन है और इस खतरनाक रास्ते से उनके बच्चे आना जाना करते हैं ऐसे में गांव की महिलाओं ने उपयुक्त सिरमौर से निवेदन किया है कि जल्द ऐसे प्रधान पर कार्रवाई की जाए या सस्पेंड कर दिया जाए जिनकी वजह से रोजाना बच्चों की जान खतरे में है और जो ₹300000 की राशि दी गई थी उसकी पूरी जांच की जाए।

ऐसे में सवाल खड़े होते हैं कि पंचायत प्रधान को अपने पंचायत के लोगों की कोई फिक्र नहीं है उनका फर्ज था कि तुरंत पंचायत में प्रस्ताव पास करके बच्चों के लिए रास्ता बनाया जा सके लेकिन प्रधान की अनदेखी की वजह से कई वर्षों से नौनिहाल यह खतरा सहन कर रहे हैं कोई भी अनहोनी हो जाए तो इसके जिम्मेदार कौन होगा प्रधान या प्रशासन यह सवाल भी लोगों के मन में है।

उधर इस बारे में उपयुक्त सिरमौर सुमित खिमटा से बातचीत की गई तो उन्होंने कहा कि मामले में उचित कार्रवाई की जाएगी