नकली लेवल की शराब मिलने से उठे सवाल, हरियाणा से तस्करी की तरफ घूम रही शक की सूई

अवैध शराब के कारोबार को लेकर सिरमौर का कोलर गांव इन दिनों प्रदेश की चर्चा अवैध शराब के साथ सिरमौर पुलिस सीज भी कर चुकी है। सबसे बड़ा सवाल यह उठता है कि कहीं बाहरी राज्य से लाई गई शराब की आड़ में खुद बनाई गई नकली शराब तो नहीं बेची जा रही है। हालांकि जिला सिरमौर पुलिस कप्तान ने एक स्पेशल टीम को इनका नेक्सेस तोडऩे के लिए फ्री हैंड भी किया हुआ है। यह पूरा का पूरा सिस्टम ऊना में भारी मात्रा में पकड़ी गई नकली लेवल वाली देसी शराब जैसा मिलता जुलता है। सवाल यह भी उठता है कि हरियाणा की सस्ती शराब की आड़ में खुद तैयार की गई शराब को खपाया जा रहा हो और पुलिस का ध्यान भटकाने के लिए बार-बार भारी राज्य की शराब को लाया जा रहा हो। जिला सिरमौर के पुलिस अधीक्षक व तमाम अधिकारी कप्तान नशा और शराब को लेकर काफी सख्त रवैया अपना चुके हैं। सवाल यह भी उठता है कि हरियाणा से जो एकमात्र शॉर्टकट रूट कोलर पहुंचता है वहां पर माजरा पुलिस मजबूत नाकेबंदी क्यों नहीं कर पाई है। जबकि अवैध शराब का जखीरा अकसर इसी रूट से गांव तक पहुंचा है। इसके अलावा कालाअंब-सुकेती रोड से होकर और दूसरा बहराल से होकर रास्ता कोलर तक आता है।

इन दोनों प्रमुख रास्तों पर सीसीटीवी कैमरे लगे हैं और बैरियर पर होमगार्ड अथवा पुलिस जवान तैनात रहते हैं। ऐसे में यदि अब पुलिस के द्वारा कोई ठोस कार्रवाई नहीं की गई तो निश्चित ही कोलर ही एक ऐसा स्थान होगा जहां जहरीली शराब का दूसरा कांड प्रदेश का दर्ज हो सकता है। सवाल यह भी उठता है कि हरियाणा की सस्ती शराब की आड़ में खुद तैयार की गई शराब को खपाया जा रहा हो और पुलिस का ध्यान भटकाने के लिए बार-बार भारी राज्य की शराब को लाया जा रहा हो। जिला सिरमौर के पुलिस अधीक्षक व तमाम अधिकारी कप्तान नशा और शराब को लेकर काफी सख्त रवैया अपना चुके हैं। सवाल यह भी उठता है कि हरियाणा से जो एकमात्र शॉर्टकट रूट कोलर पहुंचता है वहां पर माजरा पुलिस मजबूत नाकेबंदी क्यों नहीं कर पाई है। जबकि अवैध शराब का जखीरा अकसर इसी रूट से गांव तक पहुंचा है। इसके अलावा कालाअंब-सुकेती रोड से होकर और दूसरा बहराल से होकर रास्ता कोलर तक आता है। इन दोनों प्रमुख रास्तों पर सीसीटीवी कैमरे लगे हैं और बैरियर पर होमगार्ड अथवा पुलिस जवान तैनात रहते हैं। उधर जिला सिरमौर के पुलिस अधीक्षक रमन कुमार मीणा ने स्पष्ट कर दिया है। -एचडीएम

 

सिरमौर पुलिस शराब माफिया के खिलाफ कड़ा एक्शन ले रही है। जल्द ही शातिर सलाखों के पीछे होंगे। तस्करी का नेटवर्क तोडऩे के लिए सभी जवान जुट गए हैं। पुलिस की कार्रवाई से माफिया की कमर टूटने लगी है।