पांवटा साहिब में भूतपूर्व सैनिक संगठन ने कारगिल दिवस पर मां भारती के लाड़लों को दी श्रद्धांजलि

 

भूतपूर्व सैनिक संगठन पांवटा साहिब और शिलाई क्षेत्र ने प्रशासन की मौजूदगी में सुबह 10 बजे पांवटा साहिब के अमर शहीद स्मारक स्थल पर कारगिल विजय दिवस मनाया। इस अवसर पर ध्वजारोहण और श्रद्धांजलि सभा का आयोजन भी किया गया। कार्यक्रम में मुख्यातिथि के तौर पर एसडीएम गुंजित सिंह चीमा ने शिरकत की, जबकि तहसीलदार ऋषभ शर्मा विशेष रूप से उपस्थित रहे। सबसे पहले शहीद स्मारक पर एसडीएम गुंजित सिंह चीमा ने ध्वजारोहण किया और उसके बाद उपस्थित सभी लोगों ने शहीद स्मारक पर पुष्पांजलि अर्पित की। तदोपरांत एसडीएम गुंजित सिंह चीमा ने उपस्थित सभी लोगों को राष्ट्र और सैनिकों के प्रति निष्ठावान रहने की शपथ दिलाई। इसके बाद सैनिक विश्राम गृह में एक सभा का आयोजन हुआ, जिसमें एसडीएम गुंजित चीमा ने उपस्थित सभी लोगों तथा युवाओं से आह्वान किया कि राष्ट्र के प्रति समर्पित होकर काम करना चाहिए और नशा व खुदकुशी जैसे जघन्य कृत्यों से दूर रहना चाहिए। उन्होंने कहा कि देश के सैनिक हमारे राष्ट्र का गौरव हैं और उन्होंने हम सब और देश की सीमाओं को सुरक्षित रखने के लिए अपने प्राणों की आहुति दी है, इसलिए हमेशा उनका सम्मान करना चाहिए। उन्होंने आश्वस्त किया कि वीर नारियों और सैनिकों की किसी भी प्रकार की समस्या का त्वरित समाधान किया जाएगा।

 

बताते चलें कि भूतपूर्व सैनिक संगठन पांवटा साहिब व शिलाई क्षेत्र कई वर्षों से वीर नारियों और भूतपूर्व सैनिकों की समस्याओं के समाधान के लिए हमेशा तैयार रहता है। संगठन ने वीर नारियों की समस्या हो या पेंशन से संबंधित समस्या या फिर शहीद स्मारक का निर्माण व देखरेख का काम हो हमेशा आगेर रहा है। इसकेसाथ ही साथ सीएसडी, ईसीएचएस, केंद्रीय विद्यालय आदि खोलने के प्र्रयास में संगठन आगे रहा है। उन्होंने कहा कि पूरा देश क्षेत्र के इन वीर सैनिकों के बलिदान के लिए ऋणी रहेगा। वीर सैनिकों द्वारा ऑपरेशन कारगिल विजय में भारत माता की सीमाओं की रक्षा के लिए दिए गए उनके सर्वोच्च बलिदान को देश हमेशा याद रखेगा।

इस मौके पर एसडीएम गुंजित सिंह चीमा, तहसीलदार ऋषभ शर्मा, नायब तहसीलदार, नगरपालिका के उपाध्यक्ष तथा पार्षद एवं भूतपूर्व संगठन की तरफ से वीर नारी वीना देवी, रजनी देवी एवं वीना, अध्यक्ष करनैल सिंह, उपाध्यक्ष नरेंद्र सिंह ठुंडू व स्वर्णजीत सिंह, सहसचिव मोहन सिंह चौहान, कोषाध्यक्ष तरुण गुरंग के अलावा कोर कमेटी से संरक्षक डा. एसपी खेड़ा, वीरेंद्र सिंह चौहान, जीवन सिंह एवं कई भूतपूर्व सैनिक तथा अन्य गणमान्य व्यक्ति मौजूद रहे।