पावटा में ना पुलिस सुरक्षित ना महिला सुरक्षित

पावटा में ना पुलिस सुरक्षित ना महिला सुरक्षित

पुलिस प्रशासन लीपापोती में जुटा

पावटा बना दूसरा यूपी लोगों में दहशत का माहौल

अपने बच्चों की जान बचाने के लिए अब महिलाएं और लोग लेंगे डीजीपी का सहारा

गुरु भूमि पांवटा साहिब में 2 दिनों में हुए जानलेवा हमले से पांवटा साहिब में दहशत का माहौल बन गया है दरअसल पांवटा साहिब में ना तो पुलिस सुरक्षित है और ना ही महिलाएं यह बात इसलिए कही जा रही है क्योंकि 2 दिन पहले 3 पुलिस जवानों को दर्जनों लोगों ने जानलेवा हमला किया तो दूसरा मामला पांवटा साहिब में एक महिला के साथ जानलेवा हमला का आया लेकिन उसके बावजूद भी पुलिस टीम लीपापोती में जुटी हुई है।

पांवटा साहिब के वार्ड नंबर 12 में हुआ महिला के साथ जानलेवा हमला से पूरे वार्ड नंबर 12 में दहशत का माहौल है वार्ड नंबर 12 की महिलाएं घर में भी डर डर के रह रही है ना जाने कब किसके घर में कोई घुसकर बेरहमी से पिटाई कर दे या हमला ना कर दे लेकिन पुलिस प्रशासन लीपापोती में जुटा हुआ है।

तस्वीरें देखकर आप खुद हैरान हो गए होंगे कि किस तरह एक महिला और उनके भाई को बेरहमी से जानलेवा हमला किया है और जानलेवा हमला करने वाला आरोपी खुलेआम सड़कों पर घूम रहा है।

वार्ड के लोगों की माने तो अब पावटा पुलिस टीम गुंडों के सामने बोनी बन गई है। ऐसे में अपने बच्चों की जान बचाने के लिए और घर की सुरक्षा के लिए डीजीपी और पुलिस अधीक्षक का दरवाजा खटखटाना पड़ेगा।

वार्ड नंबर 12 में एक महिला ने थाना में शिकायत दर्ज कराई है कि कुलदीप सिंह घर में घुसा दरवाजा तोड़ा भाई के साथ ईटों से वार किया और उन पर भी जानलेवा हमला किया जैसे ही पीड़ित महिला ने आवाज निकाली तो आसपास के पड़ोसी इकट्ठा हुए उस दौरान गुंडागर्दी फैला रहा कुलदीप सिंह घर से भागने लगा और महिला को जान से मारने की धमकी दी, लेकिन विडंबना का विषय तो यह है कि बड़ा प्रक्रम होने के बाद जहाँ आसपास की महिलाएं और शिकायतकर्ता महिला में दहशत का माहौल है लेकिन उसके बावजूद भी पुलिस टीम लीपापोती में जुटी हुई है।

शिकायतकर्ता महिला ने बताया कि पहले भी आरोपी के ऊपर चोरी के मामले दर्ज है बड़ी चोरी की वारदातों को अंजाम दे चुके हैं ऐसे में गुंडागर्दी फैलाने वाला व चोरी की वारदातों को अंजाम देने वाला कुलदीप सिंह बेफिक्र सड़कों पर घूम रहा है। महिला ने बताया कि आने वाले समय में ना जाने और किस पर यह गुंडा अत्याचार करेगा।

गौरतलब है कि पांवटा साहिब में बढ़ रही गुंडागर्दी का कारण पुलिस की कार्यशैली पर भी सवाल खड़े हो रहे हैं कि शहर का माहौल खराब करने वालों को क्यों पुलिस टीम खुलेआम छोड़ रही है वही क्षेत्र के लगभग कई संस्थाएं व वार्ड नंबर 12 की महिलाओं ने कहा कि पौंटा साहिब दूसरा यूपी बन गया है यहां पुलिस प्रशासन अमीरों पर मेहरबान हो रहे हैं लेकिन गरीबों की कोई सुनवाई नहीं हो रही है ऐसे में महिलाएं कैसे सुरक्षित रहेगी।

उधर पुलिस ने इस मामले में भले ही मामला दर्ज कर लिया है लेकिन कार्रवाई लीपापोती की तरह की जा रही है।

पुलिस अधीक्षक रमन मीणा से इस बारे में जब शिकायत की गई तो उन्होंने कहा कि पुलिस टीम जांच में जुटी हुई है लेकिन फिलहाल 15 घंटों का समय हो चुका है लेकिन पुलिस टीम तक कार्य कछुआ गति से चल रहा है।