माफिया चाट रहे मलाई जनता खा रही धूल

माफिया चाट रहे मलाई जनता खा रही धूल

गोजर अडायन में जमकर खनन माइनिंग विभाग चुप

ग्रामीणों ने एसडीएम को दिया ज्ञापन जल्द हो कार्रवाई

पांवटा साहिब में अवैध खनन माफिया अब लोगों के लिए जी का जंजाल बन रहे हैं अवैध खनन माफिया दिन दोगुनी और रात चारगुनी कर रहे हैं लेकिन संबंधित विभाग कोई कार्यवाही करने को तैयार नहीं दरअसल यमुना नदी में अवैध खनन का बड़ा खेल चल रहा है। दिन हो या रात जेसीबी मशीन से ट्रॉलियां भरकर नदियों के रास्ते र उत्तराखंड पहुंचाई जा रही है। जिससे राजस्व विभाग को लाखों की चपत लग रहा है।

 

वही गोजर अडायन कि ग्रामीणों द्वारा नदियों में जमकर होरे खनन को लेकर एसडीएम पावटा को शिकायत दी और मांग की रेत बजरी माफियाओं पर नकेल कसी जाए वही ग्रामीणों ने मीडिया के कैमरे ऑन होते हुए बताया कि माइनिंग विभाग रेत बजरी माफियाओं से कमीशन ले रहा है और अपनी जेब गर्म कर रहे हैं लेकिन रेत बजरी माफियाओं के आतंक की वजह से ना तो ग्रामीण खुश है और ना ही सुकून की नींद सो पा रहे हैं इनकी धूल मिट्टी से चाहा बीमारियां उत्पन्न हो गई है गांव की हरियाली गुम हो गई है फसलें बर्बाद हो रही है लेकिन उसके बावजूद भी रेत बजरी माफिया अपनी आदतों से बाज नहीं आ रहे हैं माइनिंग विभाग को कई बार बोलने के बावजूद भी इस्पेक्टर से लेकर जिला अधिकारी चुप्पी साधे बैठे हैं।

खनन विभाग के अधिकारी नहीं कर रहे कार्रवाई:

ग्रामीणों ने कहा कि प्रतिदिन लाखों रुपए का रेत अवैध रूप से बिक रहा है। क्षेत्र निवासियों का कहना है कि क्षेत्र में बड़े स्तर पर अवैध खनन हो रहा है। शिकायत के बाद भी खनन विभाग के अधिकारी कार्रवाई नहीं कर रहे। जिससे खनन विभाग के अधिकारियों की कार्रवाई संदेह के घेरे में है। अवैध खनन का सबसे बड़ा खेल खनन एजेंसी बी-12 के पास चल रहा है। सरकार अवैध खनन पर सख्ती की बात कह रही है, लेकिन सच्चाई कुछ और ही ब्यां कर रही है। यमुना नदी के सीने में पड़े मशीनों के गहरे जख्म अवैध खनन की गवाही दे रहे हैं। वहीं इस मामले में माइनिंग विभाग के अधिकारी कुछ भी बोलने को तैयार नहीं है।

 

अवैध खनन से यमुना नदी में बह रहे पानी की धारा बदली

SDM कार्यालय के बाहर ग्रामीणों ने बताया कि अवैध खनन माफिया व अधिकारियों के गठजोड़ ने क्षेत्र को बदहाल कर दिया। अवैध खनन से यमुना नदी में बह रहे पानी की धारा बदल गई है। नदी के किनारें टूट चुके हैं। क्षेत्र में हो रहे अवैध खनन की फोटो व वीडियो उन्होंने जुटा लिए हैं। जिसे लेकर वे जल्द खनन मंत्री से मिलेंगे और मिलीभगत करने वाले अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग करेंगे।

बाइट ग्रामीण

एसडीएम ने दिए सख्त कार्यवाही के आदेश

पांवटा साहिब के एसडीएम गुंजन सिंह चीमा ने ग्रामीणों को आश्वासन दिया है कि रेत बजरी माफियाओं पर नकेल कसी जाएगी और संबंधित विभाग को सख्त आदेश जारी कर दिए हैं।

गौरतलब है कि रेत बजरी माफिया ने पांवटा साहिब में अपनी जड़े मजबूत कर दी है क्या पावटा एसडीएम और डीएसपी की जोड़ी पिछले वर्ष की भांति रेत बजरी माफियाओं के खिलाफ कार्यवाही कर पाएंगे या लीपापोती करते हैं। बता दें कि पिछले वर्ष वीर बहादुर और विवेक महाजन की जोड़ी ने खुद नदियों में जाकर ट्रैक्टर चालकों के खिलाफ कार्रवाई की और एफ आई आर दर्ज की थी साथ में माफियाओं को धूल चटाने के लिए स्पेशल अभियान चलाया था जिसके परिणाम स्वरूप कई समय तक रेत बजरी माफियाओं की कमर टूटी रही।