यहाँ स्कूल टीचर ने कि बच्चों की पिटाई, पैरेंट्स ने किया हंगामा

यहाँ स्कूल टीचर ने कि बच्चों की पिटाई, पैरेंट्स ने किया हंगामा

Indai- ठाणे जिले के डोंबिवली में एक निजी स्कूल टीचर द्वारा बच्चों की पिटाई का मामला सामने आया है। पैरेंट्स ने नई महिला शिक्षिका पर बच्चों की लोहे की छड़ द्वारा बेरहमी से पिटाई का आरोप लगाया। इसको लेकर स्कूल में शुक्रवार को काफी ज्यादा हंगामा भी हुआ। डोंबिवली पश्चिम में स्थित स्कूल में अभिभावकों के घुसने और वहां हुए हंगामे का एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है।

वीडियो में पैरेंट्स के साथ करीब 30 छात्र भी देखे जा सकते हैं जिन्हें पट्टियां बंधी हुई हैं।

 

अभिभावक दोपहर में स्कूल पहुंचे और मैनेजमेंट से सवाल किया कि टीचर ने उनके बच्चों को क्यों पीटा? उन्होंने शिक्षिका के खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग की। इसके बाद स्कूल कैंपस में कई घंटे तक हंगामा होता रहा। मामले को लेकर पैरेंट्स ने मीडिया से भी बात की।

एक अभिभावक ने इसके बारे में जानकारी दी। उन्होंने कहा कि इस महिला शिक्षिका ने बच्चों की लोहे की छड़ से पिटाई की थी। इसके चलते बच्चों को गंभीर रूप से चोटें आई थीं।

 

एक अन्य अभिभावक ने कहा कि दो दिन पहले इसी शिक्षिका के खिलाफ हम शिकायत लेकर आए थे क्योंकि उनका पढ़ाया हुआ छात्रों को समझ नहीं आ रहा था। ऐसा लगता है उसने बदला लेने के लिए छात्रों को पीटा है। इस मामले पर कमेंट के लिए स्कूल मैनेजमेंट से कई बार कांटैक्ट करने की कोशिश की गई। हालांकि स्कूल मैनेजमेंट से कोई कांटैक्ट नहीं हो सका।

2th न्यूज़ हिमाचल प्रदेश

विद्युत बोर्ड लिमिटेड चुवाड़ी अभिमन्यु, कनिष्ठ अभियन्ता एनएचएआई किन्नौर सतीश कुमार, कैजुअल वर्कर माउंटेनियरिंग सब-सैंटर भरमौर कमलेश, चौकीदार पटवार सर्किल थरोच तहसील नेरवा गणेश चंद, कनिष्ठ अभियन्ता बीआरओ दीपक प्रोजेक्ट कुल्लू अपूर्व सचान, नायक ओईएम बीआरओ दीपक प्रोजेक्ट कुल्लू एम. किरण, राधा स्वामी सत्संग ब्यास मंडी के क्षेत्रीय सचिव चेत राम कौंडल, रेडक्रॉस सोसाइटी मंडी के सचिव ओ.पी. भाटिया तथा सहभागिता एनजीओ कुल्लू को आपदा के दौरान राहत एवं बचाव कार्यों में सराहनीय कार्य करने के लिए सम्मानित किया गया।
इसके अतिरिक्त सर्वश्रेष्ठ आपदा प्रबंधन योजना पर प्रदेश भर के स्कूलों में आयोजित प्रतियोगिता के विजेताओं को भी सम्मानित किया गया। इनमें राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला मौहल जिला कुल्लू को प्रथम पुरस्कार के रूप में एक लाख रुपए का पुरस्कार दिया गया, जबकि शहीद श्री बालकृष्ण राजकीय मॉडल वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला (बाल) कुल्लू तथा राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला कोठीपुरा जिला बिलासपुर को दूसरे पुरस्कार के रूप में 50-50 हजार रुपए का पुरस्कार दिया गया। राजकीय उच्च पाठशाला सरोग जिला चंबा, राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला (बालिका) कुल्लू, राजकीय उच्च स्कूल परसदा हवाणी जिला मंडी, राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला तुलाह जिला मंडी, राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला (बाल) मंडी को तृतीय पुरस्कार के रूप में 25-25 हजार रुपये प्रदान किए गए।
शिमला शहर में आयोजित चित्रकला, नारा लेखन तथा प्रश्नोत्तरी प्रतियोगिताओं के विजेताओं को भी पुरस्कृत किया गया। नारा लेखन में राजकीय मॉडल वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला पोर्टमोर की सारिका शर्मा ने पहला, राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला संजौली के रोहित कुमार ने दूसरा तथा राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला टूटू की ज्योत्सना ने तीसरा स्थान प्राप्त किया। चित्रकला प्रतियोगिता में राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला भौंट के मन्नत ठाकुर ने पहला, राजकीय मॉडल वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला पोर्टमोर की प्ररेणा ने दूसरा तथा राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला (बालिका) लक्कड़ बाजार की ईशिता ने तीसरा पुरस्कार जीता। प्रश्नोत्तरी प्रतियोगिता में राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला (बालिका) लक्कड़ बाजार ने पहला, राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला टुटू ने दूसरा तथा राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला लालपानी ने तीसरा पुरस्कार जीता।
.0.