रात भर गुल रही बिजली, लोग रहे परेशान

सो रहा बिजली विभाग अंधेरे में जाग रही जनता

 

सीएम की मेहनत पर पानी फेर रहा पांवटा बिजली विभाग….

पांवटा साहिब में बिजली विभाग की लापरवाही लगातार देखने को मिल रही है वहीं लोगों ने बताया कि जब से सहायक अभियंता और कनिष्ठ अभियंता ने कार्यभार संभाला है अधिकांश क्षेत्रों में बिजली राम भरोसे हो गई है तो लोगों की परेशानियां तीनों दिन बढ़ती जा रही है ऐसा ही ताजा मानते रात को सामने आया जिसके चलते दर्जनों गांव के लोगों को बिजली न मिलने से रात भर परेशानियां झेलनी पड़ी।

 

जानकारी मुताबिक शनिवार की शाम राजबन के समीप बिजली की तारों में खराबी आ गई जिससे आधा गिरीपार क्षेत्र अंधेरे में डूबा रहा। चिलचिलाती गर्मी के बीच बिजली न मिलने से लोग रात भर परेशान रहे। पानी की भी किल्लत उठानी पड़ी।

 

वहीं दर्जनों लोगों ने मीडिया को जानकारी देते हुए बताया कि अधिकारी अपने दफ्तरों में दिनभर आराम फरमाते हैं और कर्मचारी काम करने को कोई राजी नहीं है जिसकी परेशानियां पिछले डेढ़ महीना से लोग झेल रहे हैं प्रदेश के मुख्यमंत्री लगातार अधिकारियों को सख्त निर्देश भी दिए हैं कि आपदा घड़ी में सुविधा प्रदान की जाए लेकिन बिजली विभाग का कारनामा इतना बढ़ गया है कि लोग परेशान हो चुके हैं।

लोगों ने बताया कि कुछ दिन पहले बिजली का गदान करने के लिए भी प्रचंड बारिश में लोगों को भारी परेशानियों का सामना करना पड़ा, इतना ही नहीं ग्रामीण इलाकों में सात-सात दिन तक बिजली गुल रहती है जिसे उठाओ बिजली योजनाएं बंद है लोग कई किलोमीटर दूर से पानी ढोने को मजबूर है मैदानी इलाकों की बात करें तो वहां पर भी हालत जस के तस हुए हैं तो कस्बे और उसके आसपास लगते इलाकों में देर रात से बिजली बाधित है अधिकारी और कर्मचारी रात भर आराम से सो रहे हैं और जनता रात के अंधेरे में जाग रही है ऐसे में लोगों का गुस्सा सातवें आसमान पर पहुंच गया है और ऐसे लापरवाह अधिकारियों कर्मचारियों के खिलाफ आने वाले समय में उच्च अधिकारियों सहित उद्योग मंत्री और प्रदेश मुख्यमंत्री को शिकायत देने की बात कह रहे हैं।

 

लोगों ने यहां तक अभी बता दिया कि कि जब से अधिशासी अभियंता और सहायक अभियंता ने कार्यभार संभाला है बिजली राम भरोसे हो गई है कब चली जाए कब आ जाए किसी को कोई पता नहीं।

 

सतोन औद्योगिक क्षेत्र है सैकड़ो लोगों को यहां से रोजगार मिलता है लेकिन बिजली न होने की वजह से उन्हें भी परेशानियां झेलनी पड़ी शनिवार शाम को भी तकनीकी खराबी आने पूरी रात आधे गिरिपार क्षेत्र की लाइट गुल रही। इससे लोगों को भारी दिक्कतों का सामना करना पड़ा। गर्मी के दिनों में बिजली की किल्लत से जहां लोगों की नींद उड़ी रही। वही मोटर आदि न चल पाने से पानी की किल्लत से भी जूझना एटा। नलों पर पानी के लिए भी रही। गडणियों को कि चूल्हा चौका करने में भी परेशानी उठानी पड़ी। अधिकांश के मोबाइल भी डिस्चार्ज हो गए।

 

लोहा ने बताया कि बिजली न रहने से रात भर बच्चे परेशान रहे। वाटर पंप न चलने से पानी भी न मिल सका। गृहणी राधा ने बताया कि घर के पुरुष सुबह कामकाज को जाते हैं, रात भर बिजली न रहने से नींद पूरी नहीं हुई। चूल्हा चौक भी अंधेरे में करना पड़ा। मेडिकल की पढ़ाई कर रहे युवक विनीत ने कहा कि बिजली बाधित होने से मोबाइल भी चार्ज नहीं हो पाए। दुकानदार सतपाल ने कहा कि क्षेत्र के लिए कोई नई बात नहीं है। यहां आए दिन फाल्ट होती है। कहा वोल्टेज ऐसा की बल्ब से ज्यादा दिए में रोशनी होती है। मान्यता शर्मा ने बताया कि लोड पड़ने से लाइन क्षतिग्रस्त हो गई है। लाइन में जगह जगह फाल्ट हुआ है। जिसे ठीक किया जा रहा है।

 

पूरी रात नहीं आई बिजली

वहीं सूत्रों की माने तो बिजली विभाग का अधिकारी नहीं पहुंचा। बिजली आपूर्ति तो बंद कर दी बाद में पूरी रात बिजली आपूर्ति चालू नहीं हो सकी। जिसकी वजह से भीषण गर्मी में लोगों को पूरी रात बितानी पड़ी। बिजली विभाग के अधिशासी अभियंता ने कहा कि तारों में खराबी आ गई है इसे करने का प्रयास किया जाएगा लेकिन पूरी रात कोई प्रयास नहीं किए गए।