CM सुखविंदर सिंह सुक्खू कि 1 महीने के बात मंत्रियों की लिस्ट तैयार

CM सुखविंदर सिंह सुक्खू कि 1 महीने के बात मंत्रियों की लिस्ट तैयार

सुक्खू की कैबिनेट में ये चेहरे तय

देव भूमि हिमाचल में आखिरकार हिमाचल प्रदेश में सीएम सुखविंदर सिंह सुक्खू की टीम तय हो गई है. चुनाव में भारी बहुमत के एक माह बाद कैबिनेट विस्तार हो रहा है. टीम सुखविंदर सिंह में कौन-कौन नाम हैं, इसका कुछ-कुछ खुलासा हो गया है. रविवार सुबह दस बजे राजभवन में शपथ ग्रहण समारोह तय हुआ है. शपथ ग्रहण समारोह के तुरंत बाद सीएम सुखविंदर सिंहसुक्खू पुणे जाएंगे.

राज्यपाल राजेंद्र विश्वनाथ आर्लेकर भी रविवार को ही 11 बजे शिमला से चंडीगढ़ व फिर गोवा के लिए रवाना होंगे. इसलिए शपथ ग्रहण समारोह सुबह दस बजे तय किया गया है. फिलहाल, सुखविंदर सिंह की टीम में जो चेहरे तय हैं, उनमें शिलाई से हर्षवर्धन चौहान, घुमारवीं से राजेश धर्माणी, कांगड़ा से चौधरी चंद्र कुमार, सोलन से कर्नल धनीराम शांडिल, कुल्लू से सुंदर ठाकुर, किन्नौर से जगत सिंह नेगी का नाम शामिल है. इसके अलावा कांगड़ा से ही सुधीर शर्मा, शिमला से विक्रमादित्य सिंह
इसके अलावा कांगड़ा से ही सुधीर शर्मा, शिमला से विक्रमादित्य सिंह के नाम पर भी करीब-करीब सहमति है।

मुख्यमंत्री सुखविंदर सिंह सुक्खू और हाईकमान के समक्ष कैबिनेट में संतुलन साधने की चुनौती थी. यहां बता दें कि शिलाई से हर्षवर्धन चौहान व घुमारवीं से राजेश धर्माणी मुख्यमंत्री सुखविंदर सिंह के करीबी हैं. उन्हें सीएम ने कैबिनेट गठन से पहले ही अहम जिम्मेदारियां दी थीं. इसके अलावा कांगड़ा से चंद्र कुमार चौधरी व सोलन से कर्नल धनीराम शांडिल का नाम भी इगनोर होने लायक नहीं था. इसी तरह जनजातीय जिला किन्नौर से जगत सिंह नेगी को शामिल करना जरूरी था. इसके अलावा अन्य नामों में अब विक्रमादित्य सिंह, रघुवीर सिंह बाली, भवानी पठानिया पर भी चर्चा।

विक्रमादित्य सिंह संभवत: पहली ही सूची में शामिल हो सकते हैं. खबर ये पुख्ता है कि अभी सीएम सुखविंदर सिंह की टीम में सभी दस मंत्री नहीं भरे जा रहे हैं. सीएम व डिप्टी सीएम के रूप में कैबिनेट में दो नेता पहले से मौजूद हैं. अब दस मंत्री बनने हैं. इसके अलावा डिप्टी स्पीकर, चीफ व्हिप व डिप्टी चीफ व्हिप का पद भी भरा जाना है. इसके लिए सीएम सुखविंदर सिंह को आने वाले समय में भी कसरत करनी पड़ेगी. फिलहाल, रविवार को राजभवन में कम से कम पांच और अधिकतम सात नेता शपथ ले सकते हैं।