हिमाचल टॉप 7 न्यूज़

टोल का झोल, ढाई महीने से उठ रहे विरोध के बोलO
टकोली में ढाई महीने से धरने पर बैठे हैं ग्रामीण, नहीं हो रही सुनवाई
पंचायत के बीच में स्थापित कर दिया है टोल प्लाजा, दो भागों में बंट गई पंचायत
पंचायत वासियों के लिए टोल फ्री करने की उठा रहे हैं मांग
इसी मांग को लेकर बीते ढाई महीनों से जारी है ग्रामीणों का धरना प्रदर्शन
ग्रामीणों ने आने वाले दिनों में हाईवे पर चक्का जाम की दे डाली है चेतावनी
एनएचएआई के प्रोजेक्ट डायरेक्टर वरूण चारी का कहना
टोल फ्री करने का नहीं कोई प्रावधान, लेकिन स्थानीय लोगों के लिए जारी होते हैं पास
मात्र तीन सौ रूपए में जारी होगा पास, ग्रामीणों को समझनी होगी सरकार की नीति
फ़ाइल:01 शोटस…. टोल प्लाजा के, धरना प्रदर्शन के
फ़ाइल:02 बाइट – कृष्ण पाल ठाकुर, स्थानीय निवासी
फ़ाइल:03 बाइट – ज्ञान चंद, स्थानीय निवासी
फ़ाइल:04 बाइट – प्रेम चंद/अध्यक्ष, युवा संघ टकोली
फ़ाइल:05 बाइट – हेमा देवी, स्थानीय निवासी
फ़ाइल:06 बाइट – कमला देवी, स्थानीय निवासी

एंकर – लोगों द्वारा दिए जाने वाले टोल के कारण ही फोरलेन जैसे बड़े प्रोजेक्टों का निर्माण होता है लेकिन यह निर्माण उन लोगों के लिए अभिशाप बन जाता है जिनके क्षेत्र में टोल प्लाजा स्थापित होता है। उन लोगों को अपने क्षेत्र के आसपास आने-जाने के लिए अपनी ही जेब को ढीला करना पड़ता है और कुछ ऐसा ही होने जा रहा है टकोली पंचायत के ग्रामीणों के साथ।
शोटस.. hp-mandi- toll plaza ka virodh-shots 01
वीओ…. कीरतपुर मनाली फोरलेन का एक टोल प्लाजा टकोली पंचायत के बीचों बीच स्थापित कर दिया गया है। हालांकि यह अभी चालू नहीं हुआ है लेकिन ग्रामीण इसके नुकसानों को भांपते हुए बीते ढाई महीनों से इसके विरोध में अपनी आवाज को बुलंद किए हुए हैं। टकोली पंचायत के लोग टोल प्लाजा पर तंबू गाड़कर लगातार धरना प्रदर्शन कर रहे हैं। ग्रामीणों का कहना है कि टोल प्लाजा स्थापित होने से पंचायत दो भागों में बंटकर रह गई है। स्थानीय निवासी कृष्ण पाल ठाकुर, ज्ञान चंद और प्रेम चंद ने बताया कि लोगों के घर टोल के एक तरफ हैं तो जमीन दूसरी तरफ। यदि अपनी ही जमीन तक गाड़ी लेकर जाना होगा तो उसके लिए टोल अदा करना पड़ेगा। किसी सरकारी कार्यालय या अस्पताल जाना होगा तो भी टोल अदा करना पड़ेगा। इनका कहना है कि टोल को बीना पंचायत की अनुमति के स्थापित किया गया है। ग्रामीणों के लिए इस टोल को पूरी तरह से फ्री किया जाए।

बाइट – कृष्ण पाल ठाकुर, स्थानीय निवासी
hp-mandi- toll plaza ka virodh-byte 02 krishan
बाइट – ज्ञान चंद, स्थानीय निवासी
hp-mandi- toll plaza ka virodh-byte 03 gyan

बाइट – प्रेम चंद/अध्यक्ष, युवा संघ टकोली
hp-mandi- toll plaza ka virodh-byte 04 prem

वीओ – स्थानीय निवासी हेमा देवी और कमला देवी ने बताया कि विरोध प्रदर्शन को लंबा अरसा बीत गया लेकिन जिला प्रशासन और एनएचएआई इनकी कोई सुनवाई नही ंकर रहा है। कुछ दिन पहले ग्रामीणों ने आंशिक चक्का जाम किया तो प्रशासन भागा-भागा पहुंच गया था। यदि जल्द ही इसका समाधान नहीं किया गया तो फिर पूरा दिन हाईवे पर चक्का जाम किया जाएगा और इसकी जिम्मेवारी प्रशासन व एनएचएआई की होगी।

बाइट – हेमा देवी, स्थानीय निवासी
hp-mandi- toll plaza ka virodh-byte 05 hema

वीओ – वहीं, जब इस बारे में एनएचएआई के प्रोजेक्ट डायरेक्टर वरूण चारी से बात की गई तो उन्होंने बताया कि ’’टोल प्लाजा अभी शुरू नहीं हुआ है। जो स्थानीय लोग होंगे उन्हें नियम के तहत मात्र 300 रूपए मासिक की दर पर पास जारी होगा, जिसपर वे पूरा महीना अपने पंजीकृत नीजि वाहनों को अनगिनत बारी टोल से गुजार सकेंगे जबकि कमर्शियल वाहनों के लिए अलग से कम शुल्क रखा जाएगा। टोल को फ्री करने का कोई प्रावधान नहीं है।’