चूड़ेश्वर सेवा समिति इकाई पांवटा की अहम बैठक चूड़धार की यात्रा को लेकर की गई चर्चाएं

चूड़ेश्वर सेवा समिति इकाई पांवटा की अहम बैठक

चूड़धार की यात्रा को लेकर की गई चर्चाएं

चूड़ेश्वर सेवा समिति इकाई पावटा की बैठक लोक निर्माण विश्राम गृह पांवटा साहिब में ओम प्रकाश चौहान की अध्यक्षता में हुई इस दौरान सबसे पहले इस वर्ष का कैलेंडर सभी को वितरित किया गया और बैठक में मई में यात्रा शुरू होने को लेकर चर्चा की गई

 

 

चुडेश्वर सेवा समिति की बैठक Om Prakash Chauhan अध्यक्षता में पांवटा लोक निर्माण विश्राम गृह में की गई इस बैठक में चुडेश्वर सेवा समिति से सम्बंधित विचार विमर्श किया गया।

इस बैठक में दर्जनों लोगों ने भाग लिया ! चूड़ेश्वर सेवा समिति इकाई पांवटा के अध्यक्ष इस मोके बैठक को संबोधित करते हुए कहा की इस वर्ष मई के महीने में चूड़धार की यात्रा शुरू हो जाएगी जिसमें श्रद्धालुओं के लिए ठहरने से लेकर लंगर की पूरी व्यवस्था की जाएगी साथ ही उन्होंने बताया कि कोई भी व्यक्ति चूड़ेश्वर सेवा समिति की सदस्यता लेना चाहता है तो 21 सो रुपए की राशि देखकर सदस्यता ग्रहण कर सकता है।

वही ओम प्रकाश चौहान ने बताया कि
इस वर्ष सेवा समिति को सराई चुडधार में यात्रियों को रहने की व्यवस्था हों जायेगी चुडधार में सराई चार मंजिल अतिरिक्त भवन तयार हों जाएगा ताकि वहां पर यात्रियों व श्रधालुओ को ठहरने के अच्छी व्यवस्था हों सके! बैठक में बताया गया की चुडधार में निर्माणधीन सराई में भवन का निर्माण प्रगति पर है और शीघ्र ही निर्मल कार्य पूर्ण हों जाएगा ।

वहीं उन्होंने बताया कि चिलेश्वर सेवा समिति के उद्देश्य है कि

चूड़ेश्वर सेवा समिति के उद्देश्य
1. चूड़ेश्वर धाम चूड़धार पहुंचने वाले सभी श्रद्धालुओं को निःशुल्क लंगर, रात्रि विश्राम व अन्य आवश्यक सुविधाएं उपलब्ध करना।
2. चूड़धार का सर्वागिण विकास करना, नैतिक तथा धार्मिक भावना के गिरते स्तर को पुर्नस्थापित करने का प्रयास करना।
3. शिक्षित, सुस्कृत व शास्त्रोक्त विधानों को समाज में स्थापित करना।
4. विषय व्यसन के समाज में बढ़ते प्रचलन को समाप्त करने के लिए प्रयास करना, बलि प्रथा को समाप्त करना, हिन्दु स्नातन धर्म
के प्रचार में कथा, कीर्तन, भागवत इत्यादि का आयोजन करना।
5. चूड़धार को धार्मिक पर्यटन स्थल के रूप में विकसित करने का प्रयास करना।
6. पहाड़ी संस्कृति की जीवनशैली व परस्पर भाईचारे की धरोहर को कायम रखने हेतु एक बड़े पारदर्शी संगठन के रूप में काम करना।
7. बेसहारा, वृद्ध, विधवा, दरिद्र, अनाथ व रोगियों की वस्त्र, अन्न, आश्रय इत्यादि देकर सहायता करना।
8. समस्त चूड़धार क्षेत्र में विद्यमान दुर्लभ जड़ी-बुटियों के संरक्षण, अनुसंधान व महत्त्व को उजागर करना।
9. वन एवं वन्यप्राणी अभ्यारण क्षेत्र चूड़धार के उचित संरक्षण हेतु सम्बन्धित विभागों के समन्वय से प्रयास करना।

बैठक के दौरान ओम प्रकाश चौहान मोहन तोमर पुराण रामलाल मस्त मीटर सिंह ग्वार सिंह आदि लोग मौजूद रहे