एनएच 707 पर कंपनियों पर गिरेगी गाज

एनएच 707 पर कंपनियों पर गिरेगी गाज

15 फरवरी को तीनों एसडीएम करेंगे निरीक्षण

 

NH 707 सड़क बनी लोगों को जी का जंजाल

 

सैकड़ों परिवार परेशान, पानी की किल्लत घरों में आई दीवारें

 

 

उद्योग मंत्री हर्षवर्धन चौहान के सख्त आदेशों के बाद अब प्रशासन ने कमर कस ली है पावटा शिलाई गुमा नेशनल हाईवे 707 पर काम कर रही कंपनियों की लापरवाही का हिसाब लेने के लिए तीनों एसडीएम 15 फरवरी को जॉइंट निरीक्षण कर रहे हैं मौके पर सारी कमियां और लापरवाही का कंपनियों के खिलाफ कार्रवाई भी की जाएगी यह जानकारी पावटा एसडीएम ने दी

 

 

 

 

 

पांवटा साहिब के एसडीएम ने कहा कि लापरवाह व लालची कंपनियों को अब किसी भी सूरत पर बख्शा नहीं जाएगा कंपनियों की लापरवाही की वजह से जड़ी बूटियां नष्ट हो गई है पानी के सूत्र बर्बाद हो रहे हैं किसानों की फसलें और भूमि तहस-नहस हो गई है क्षेत्र के सैकड़ों लोगों के रोजगार कंपनियों के लालच के कारण बर्बाद हो गए हैं कई लोगों की शिकायत उन तक भी पहुंची है पक्की दीवारों पर अभी से दीवारें आना शुरू हो गया है लोगों के घर को भी खतरा पहुंच गया है ऐसी अनेक को शिकायतें हमें लोगों द्वारा दी गई है वही सिलाई के विधायक व प्रदेश सरकार में उद्योग मंत्री ने भी सख्त निर्देश दिए हैं।

 

 

 

वही उन्होंने पत्रकारों के सवालों के जवाब देते हुए बताया कि 2 नंबर 3 नंबर और 4 बैच का काम कर रही कंपनी की लालच तो इतनी बढ़ गई है कि इन्हें शासन प्रशासन की कोई परवाह नहीं है चंद्र सिक्कों के लालच में प्रशासन के नियमों को ठेंगा दिखा रहे थे

 

 

गौरतलब है कि सबसे बड़ा विडंबना का विषय तो यह भी है कि राजमार्ग प्राधिकरण की लापरवाही और निजी कंपनी की मनमर्जी के कारण बीते एक महीने से लोगों को पेयजल प्राप्त नहीं हो पा रहा है। ग्राम पंचायत शिल्ला के लगभग चार गांव के लोग पेयजल होते हुए भी दर दर भटक रहे है। कई बार राजमार्ग प्राधिकरण व मौका पर कार्य कर रही कम्पनी को समस्या का समाधान करने के लिए कहा गया है। लेकिन समस्या जस की तस बनी हुई है।

 

बाइट एसडीएम गुरजीत सिंह चीमा