मासूम को बेचने पर परिजन गिरफ्तार, आठ लाख में हुआ था सौदा

मासूम को बेचने पर परिजन गिरफ्तार, आठ लाख में हुआ था सौदा…

 

पांवटा साहिब की एक महिला को उत्तराखंड के हरिद्वार में पुलिस ने अपने तीन महीने के मासूम को आठ लाख में बेचने के मामले में बच्चे की मां, नाना और बिचौलिए को गिरफ्तार किया है। इस दौरान उत्तराखंड पुलिस ने आरोपियों से पांच लाख की नकदी भी बरामद की है, जो खरीददार से बतौर एडवांस ली गई थी। पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ प्रभावी धाराओं में मुकद्दमा दर्ज कर गिरफ्तार कर लिया। रोशनाबाद स्थित कार्यालय में मामले का खुलासा करते हुए वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अजय सिंह ने बताया कि राज बिहार फेस-1 फुटबाल ग्राउंड के पास एक घर में बच्चे की खरीद-फरोख्त की सूचना मिली थी। कनखल थाने की टीम ने मौके पर छापा मारा। पुलिस ने बच्चे की मां मोनिका, नाना पिंटू निवासी ग्राम शुभखेड़ा पांवटा साहिब जिला सिरमौर हिमाचल प्रदेश, हाल पता बलराम वाली गली निकट फुटबॉल ग्राउंड जगजीतपुर कनखल के अलावा महादेव निवासी रानीपोखरी देहरादून और हर्षी निवासी राजागार्डन गली नंबर तीन कनखल को गिरफ्तार कर लिया।

 

महादेव बच्चे का खरीददार है, जबकि हर्षी बिचौलिया और महादेव की बहन है। एसएसपी अजय सिंह ने बताया कि आरोपी महादेव की शादी को 10 साल हो गए थे। उसकी एक बेटी है। उसने बेटा गोद लेने की इच्छा जताते हुए बहन हर्षी को बताया। हर्षी ने भाई के लिए बेटे की तलाश शुरू कर दी। इसी दौरान हर्षी को पता चला कि जगजीतपुर कनखल की मोनिका का पति से कुछ समय पहले तलाक हो गया है। उसका तीन माह का बच्चा है जिसे वह बेचना चाहती है। हर्षी ने यह जानकारी अपने भाई महादेव को दी और मोनिका से बच्चा खरीदने हरिद्वार आ गए। आठ लाख रुपए में बच्चा खरीदने का सौदा तय हुआ। पांच लाख रुपए बतौर एडवांस दे दिए, जबकि तीन लाख रुपए बाद में देना तय हुआ। थाना प्रभारी नरेश राठौड़ ने बताया कि सभी आरोपियों को कोर्ट में पेश किया गया। कोर्ट ने आरोपियों को जेल भेज दिया।