पांवटा साहिब अतिक्रमण से शहरवासी परेशान

पांवटा साहिब अतिक्रमण से शहरवासी परेशान

रेडी और व्यापारियों की वजह से अतिक्रमण बड़ा पांवटा में।

पांवटा की हर मुख्य सड़क पर जाम की स्थिति प्रशासन बेफिक्र

पावटा एसडीएम ने नगर परिषद को दिए सख्त निर्देश

पांवटा साहिब के मुख्य बाजार में दुकानों के सामने रखे सामान के कारण पनप रही अतिक्रमण की समस्या से राहगीरों व वाहन चालकों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। दुकानदारों व रेहड़ी चालकों ने सड़कों पर कई-कई फुट तक दुकान का सामान रख कर अतिक्रमण किया हुआ है। हालाकि नगरपालिका कभी कभार अतिक्रमण अभियान चलाकर कागजी कार्रवाई करती रहती है, लेकिन आज तक किसी भी ठोस कार्रवाई को अंजाम नही दिया जा सका है।

जमीन पर रहता कब्जा

पांवटा साहिब के बाईपास चौक से लेकर  मेन बाजार सड़कों के उपर रखे सामान से जाम की स्थिति पैदा हो जाती है। शहर के हॉस्पिटल वाली सड़क और गीता भवन वाली सड़क में दुकानदारों और रेहड़ी वालों ने कब्जा कर लिया है जिस वजह से सड़क के दोनों तरफ के दुकानदारो द्वारा करीब कई फुट तक सामान रखा हुआ है।

नहीं की जाती कार्रवाई

स्थानीय निवासी नाथूराम चौहान ने कहना है कि बाईपास चौक से लेकर हॉस्पिटल वाली सड़क तक इस अवैध कब्जे के कारण एक ओर जहा आवागमन के लिए बहुत कम रास्ता बचता है वही सड़क पर लोहे के सरिये, एंगल व अन्य सामान पड़े होने के कारण दुर्घटना होने की आशका भी बनी रहती है । परन्तु फिर भी इन दुकानदारों के विरुद्ध कोई कार्रवाई नहीं की जाती। जिससे दुकानदारों के होसलें बुलंद है और सरकारी सड़क पर बे-रोकटोक अतिक्रमण जारी है।

रेहड़ी वालों ने किया कब्जा

राहगीर नाथूराम चौहान ने बताया कि शहर के मेन बाजार व तकिया मार्केट में रेहड़ी विक्रेताओं ने अपनी दुकानदारी जमाई हुई है। बाजार में भीड़-भाड़ होने के कारण प्राय जाम की स्थिति पैदा हो जाती है और लोगो को भारी मुसीबतों का सामना करना पड़ता है।

प्रशासन हो सजग

राहगीर नाथूराम चौहान का कहना है कि शहर में विभिन्न रास्तों पर दुकानदारों ने अतिक्रमण किया हुआ है। अतिक्रमण की ये समस्या दुर्घटना का कारण बनती है। प्रशासन को चाहिए कि अतिक्रमण को हटाए। इससे शहर की सुंदरता को भी ग्रहण लग रहा है।

सड़कों के बीच रखा है सामान

स्थानीय निवासी मयंक शर्मा ने बताया कि आज शहर के बहुत से रास्ते दुकानदारो के सामन से अटे पड़े है। जब कभी नगरपालिका की ओर से कोई अतिक्रमण हटाओं अभियान चलाया जाता है तो दुकानदार आनन-फानन में सामान अंदर रख लेते है लेकिन जैसे ही नगरपालिका अधिकारी व कर्मचारी चले जाते है तो एक के बाद एक दुकानदार फिर से दुकानों के आगे सामान लगाना शुरू कर देता है। इस समस्या का आज तक कोई भी स्थाई समाधान नही हो पाया है।

वर्जन

वही नगर परिषद कार्यकारी अधिकारी ने बताया कि मुख्य बाजार में बढ़ रहे अतिक्रमण को लेकर पहले भी कई लोगों के चालान काटे गए हैं और फिर से यही मुहिम शुरू की जाएगी ताकि लोगों को किसी भी तरह की परेशानी ना हो सके।

क्या बोले पांवटा एसडीएम

वही पावटा एसडीएम ने नगर परिषद को सख्त निर्देश दिए हैं कि 3 दिनों अल्टीमेटम  व्यापारियों और रेडियो को दिया जाए और उसके बाद सख्त से सख्त कार्रवाई अमल में लाई जाए ताकि होली के त्यौहार में किसी भी तरह की लोगों को परेशानी ना हो।