जिला सिरमौर को है ठाकुर हर्षवर्धन चौहान जी से बहुत सी,उम्मीद ओर अपेक्षाएं…

जिला सिरमौर को है ठाकुर हर्षवर्धन चौहान जी से बहुत सी,उम्मीद ओर अपेक्षाएं…

जैसा कि विधित है कि ठाकुर हर्षवर्धन चौहान जी जिला सिरमौर के शिलाई विधानसभा से छठी मर्तवा जीतकर विधानसभा पहुंचे हैं और वरिष्ठ कांग्रेस नेता हैं जिनका मंत्री बनना लगभग तय है।

उन्हें जो भी मंत्रालय मिलेगा उस लिहाज से शिलाई ओर सिरमौर जिला के लिए बहुत महत्वपूर्ण हो जाता है इसी सन्दर्भ में सिरमौर की जनता उस पल को देखने के लिए ओर भी उत्साहित नजर आ रही है और उससे बढ़कर यह कि ठाकुर हर्षवर्धन चौहान मंत्री बनने के बाद जिला सिरमौर को विकास की दृष्टि में कितने बुलंदियों पर पहुंचाते हैं।

यह भविष्य की गर्व में छीपा है परन्तु अगर हम पूर्व की सरकार की बात करें तो सिरमौर में पूर्व विधायक बलदेव तोमर जी ने अपने विधानसभा क्षेत्र में अनेकों ऐसे ऐसे कार्य किए हैं।

जिसे नजरअंदाज नहीं किया जा सकता जिसमें से की SDM कार्यालय, बीडीओ कार्यालय, कालेज, स्कूल इत्यादि और इससे भी बढ़कर है हाटी समुदाय को जनजातिय दर्जा देने के पूर्व मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर के घनिष्ठता के कारण उन्होंने अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभाई ,जो अब लोकसभा में भी पास हो गया है और अब राज्यसभा में जाना है और साथ ही पूर्व में उर्जा मंत्री रहे और वर्तमान के पांवटा साहिब से विधायक सुखराम चौधरी जी ने भी उर्जा के क्षेत्र में अपनी अहम भूमिका निभाई है।

 

और उर्जा को दुरुस्त ओर कारगर साबित करने के लिए बहुत ही सराहनीय प्रयास किए हैं जिसके परिणामस्वरूप उन्हें दूबारा से विधानसभा जाने का सौभाग्य प्राप्त हुआ परन्तु बलदेव सिंह तोमर जी इतने विकासात्मक कार्यों के करने के बाद भी विधानसभा जाने में सफल नहीं हो पाए।

जिसमें की जनता के मतानुसार कई कारण बताएं जातें हैं परन्तु अगर हम वर्तमान की बात करें तो ठाकुर हर्षवर्धन चौहान के उपर समस्त जिला सिरमौर की बहुत सी उम्मीद ओर अपेक्षाएं टीकी है और उनकी ईमानदारी के चर्चे भी प्रदेश स्तर पर होते हैं और साथ ही एक लम्बा राजनितिक अनुभव भी ठाकुर हर्षवर्धन चौहान को मंत्री बनाने में एक सेतु का काम करेगा।

शिलाई विधानसभा क्षेत्र में यह एक रोचक और संयोग ही है कि पिछले विधानसभा में बने मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर जी जो बलदेव तोमर जी के खासमखास मानें जातें हैं और बलदेव तोमर जी ने बखूबी अपनी भूमिका शिलाई के विकास में निभाई और इस विधानसभा चुनाव में जहां नए मुख्यमंत्री ठाकुर सुखविंदर सिंह सुक्खू बनें जो ठाकुर हर्षवर्धन चौहान के भी घनिष्ठ मित्र और संघटन के पूराने साथी मानें जातें हैं।

 

तो यह देखने वाली बात रहेगी की ठाकुर हर्षवर्धन चौहान जी अपने शिलाई विधानसभा क्षेत्र ओर जिला सिरमौर को विकास की दृष्टि में किस स्तर तक बुलंदियों तक पहुंचाते हैं शिलाई विधानसभा क्षेत्र में अभी भी बहुत कुछ होना बाकी है है जिसमें से प्रमुख जैसे स्वास्थ्य सुविधाओं को सुदृढ़ करना, और शिक्षा व्यवस्था के गुणवत्ता में सुधार होना, पर्यटन के लिहाज से क्षेत्र को विकसित करना जिसमें की चानपुधार जेसे क्षेत्र को अगर इस क्षेत्र में पंख लग जाएं तो स्थानीय लोगों को रोजगार के अपार अवसर प्राप्त होंगे और सबसे महत्वपूर्ण की शिलाई में एक लघु सरकारी पुस्तकालय खोला जाए तो शिक्षा के क्षेत्र में क्रांति आ सकती है।

 

और जो अभिभावक पांवटा साहिब नाहन लाईब्रेरी में आर्थिक समस्या से नहीं भेज पाते उन्हें स्थानीय तौर पर यह सुविधा उपलब्ध हों जाएगी, साथ ही शिलाई में एक भव्य बस स्टैंड बन जाएं ताकि स्थानीय लोगों को तमाम सुविधाएं उपलब्ध हो जाएं और सरकारी बसों की सुविधाओं की जरूरत भी पूरी होगी,इत्यादि अनेकों ऐसे कार्य अभी भी होने बाकी है ।

 

जिसमें की अगर ठाकुर हर्षवर्धन चौहान जी अपनी अहम भूमिका निभाते हैं तो भविष्य में एक सफल मंत्री के तौर पर जानें जाएंगे और वह काबिलियत ठाकुर हर्षवर्धन चौहान जी में विद्यमान भी है क्योंकि उन्हें इस विधानसभा चुनाव में पहली बार मंत्री बनने का सौभाग्य प्राप्त हों रहा है तो जनता की उम्मीद भी बहुत ज्यादा टीकी है इस लिहाज से अब उन पर निर्भर करता है।

 

कि वह अपने इस नए दायित्व और सेवा के सौभाग्य को कितना अमलीजामा पहनाने में सफल होते हैं जैसा कि नए नवेले मुख्यमंत्री सुखविंदर सिंह सुक्खू जी ने ब्यान में भी कहा है कि हम सत्ता के लिए राजनीति में नहीं बल्कि सेवा भाव और व्यवस्था परिवर्तन के लिए राजनीति में आएं हैं इस लिहाज से अब हिमाचल प्रदेश की राजनीति में एक नया परिवर्तन और व्यवस्था परिवर्तन भी देखने को मिल सकता है उम्मीद यही करेंगे कि हिमाचल में पहले से बेहतर हो ओर जिला सिरमौर विकास की दृष्टि से नए कृतिमान स्थापित हो ताकि जनता को राहत मिल सके, और महंगाई जैसी भयंकर समस्या से निपटने के लिए सरकार कुछ अहम फैसले ले ताकि आम आदमी को राहत मिल सके।