सीएम सुखविंदर सिंह सुक्खू के पास अधिकारियों के खोले जाएंगे काले चिट्ठे कांग्रेस नेता प्रदीप चौहान

सीएम सुखविंदर सिंह सुक्खू के पास अधिकारियों के खोले जाएंगे काले चिट्ठे कांग्रेस नेता प्रदीप चौहान…

 

माइनिंग और पोलूशन विभाग पर मजदूर नेता ने लगाया भ्रष्टाचार के आरोप

 

एसडीएम पांवटा को दिया ज्ञापन बोले स्टोन क्रेशर को जल्द करवाएं बंद अन्यथा करेंगे धरना प्रदर्शन…

 

पांवटा साहिब में लालची स्टोन क्रेशर के खिलाफ कांग्रेस नेता ने पांवटा SDM को लिखित रूप में शिकायत दी है कि भटरोग में क्रेशर संचालक के खिलाफ उचित कार्यवाही हो अन्यथा 7 दिनों के बाद धरना पर बैठ जाएंगे।

 

मीडिया के कैमरे ऑन होते ही कांग्रेस नेता प्रदीप चौहान ने बताया कि पांवटा साहिब में कुछ एक अधिकारियों की वजह से पांवटा साहिब में फिर भ्रष्टाचार फैलना शुरू हो गया है माइनिंग विभाग और वन विभाग के जिम्मेदार अधिकारियों की क्रेशर संचालकों के साथ सांठगांठ होने की वजह से खनन को बढ़ावा दिया जा रहा है जिससे राजस्व विभाग को लाखों की चपत लग रही है।

 

उन्होंने बताया कि भटरोग में 2 दिन पहले ही क्रेशर खोला गया है और यहां पर माल ढुलाई का कार्य शुरू हो गया है, लापरवाह अधिकारियों की वजह से जहां पोंटा साहिब बदनाम हो रहा है तो वहीं आम जनमानस को भी भारी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है उन्होंने बताया कि अपनी जमीन पर स्टे आर्डर दिया है जिसके सारे दस्तावेज माइनिंग अधिकारी सहित जिम्मेदार अधिकारियों तक भेज दिए हैं लेकिन अधिकारियों के क्रेशर संचालकों के साथ सांठगांठ होने की वजह से फिर भी परमिशन दी जा रही है।

 

कुंभकरण नींद सोया पोलूशन विभाग

 

प्रदीप चौहान ने पोलूशन विभाग के जिम्मेदार अधिकारी पर भी सवाल खड़े करते हुए कहा कि पिछले 3 वर्षों से लगातार पोलूशन विभाग की लापरवाही सामने आ रही है कोई भी कार्रवाई करने को तैयार नहीं है लेकिन अब सभी अधिकारी कान खोल कर सुन रहे सबके काले चिट्ठे आने वाले समय में सीएम सुखविंदर सुखी के सामने खोले जाएंगे ताकि उनके द्वारा फैलाया जा रहा कौन सा साल में भ्रष्टाचार पर लगाम लग सके

हालांकि कांग्रेस नेता द्वारा अधिकारियों पर लगाए गए आरोपों की पुष्टि हम नहीं करते हैं । परंतु मौजूदा हालात की अगर बात की जाए तो वन विभाग और माइनिंग विभाग की तो लापरवाही अक्सर देखने को मिल रही है। इसके अलावा कई क्रेशर ऐसे भी है जो बिना टीएमटी के चल रहे हैं लेकिन विभाग उस पर भी कोई कार्यवाही नहीं कर रहा है।