हिमाचल में सबसे ईमानदार नेताओ में एक है हर्ष वर्धन , सुनील

हिमाचल में सबसे ईमानदार नेताओ में एक है हर्ष वर्धन , सुनील

 

 

मजदूर नेता प्रदीप चौहान का मानसिक संतुलन बिगड़ गया है उसे अच्छे अस्पताल में दिखाना होगा : सुनील चौहान

 

शिलाइ ब्लॉक कांग्रेस के महासचिव व मीडिया प्रभारी सुनील चौहान ने कहा है कि मजदूर नेता प्रदीप चौहान का मानसिक संतुलन सही नही है

उन्हें किसी अच्छे अस्पताल में दिखाना चाहिए ताकि उनका मानसिक संतुलन सही हो ,

उधोग मंत्री ठाकुर हर्षवर्धन चौहान के बारे में बोलना उनकी घटिया मानसिकता को दर्शाता है ,ये बयान बाजी मीडिया में रहकर मजदूर नेता इसलिए कर रहा है ताकि लोग उसे भी बड़ा नेता समझे सुनील चौहान का कहना है कहाँ गंगू तेली कहाँ राजा भोज ,

 

एक ईमानदार स्वच्छ छवि वरिष्ठ नेता के प्रति बोलना एक मूर्खता की निशानी है जो 6टी बार शिलाई से विधायक बनकर चुने है उनका जनता के प्रति लगाव और जनता का उनके प्रति लगाव कितना है ये साफ दर्शाता है कि 6 बार विधायक कैसे बना जाता है जब जनता के बीच रहते है तभी तो शिलाई की जनता उन्हें जिताती है ,ऐसे तो बीजेपी नेता की तरह एक बार ही जिताकर दुबारा गलती नही करती

उन्हें इस समय कोई पूछ नही रहा किरनेश जंग ने भी चुनाव के समय दरकिनार किया कियोंकि बोलता था मीडिया के लिए पैसे मेरे पास दो ताकि पैसा अपने आप गबन कर सके जबकि हमारी मीडिया साफ सुथरी है परन्तु किरनेश जंग ने ऐसा नही किया ,और मजदूर नेता घर बैठ गया मतलब अपने फायदे के लिए पार्टी से जुड़ा है बाकी कोई लेना देना नही है सुनील चौहान का कहना है कि मजदूर नेता बताएं किरनेश जंग को जिताने के लिए क्या किया सिर्फ मीडिया में बने रहने से चुनाव नही जीता जाता उसके लिए जमीनी स्तर पर काम करना होता है अगर जमीनी स्तर पर काम किया होता तो रिजल्ट शिलाई की तरह होता साथ मे मजदूर नेता बताएं कि मजदूरों के लिए क्या किया बस दिखावे के लिए उनके साथ धरने पर्दशन में शामिल होता है बाकी फैक्टरी के साथ क्या सेटिंग करता है भगवान ही जाने मजदुरो के लिए

कुछ नही किया सिर्फ मीडिया में बने रहने के लिए बेतुकी बयान बाजी कर रहे है जो समझ से परे है ,ये यही प्रदीप चौहान है जो किसी समय किरनेश जंग को चोराहे पर 2017 के चुनाव से पहले गाली देता था और बोलता था जंग साहब काम नही करते अनाप शनाप बयान बाजी करते थे फोन नही उठाते ,उनको चुनाव में देख लेंगे , और जब कही दाल न गली तो मजबूरी में जंग के साथ ही जाना पड़े , इसका पेशा ही ऐसा है ब्लेक मेल करना ,लोगो को डराना प्रशासन से बत्ततमीजी करना है ,

और घर का मसला क्या मंत्री जी सुलझाएंगे इतनी तो समझ होनी चाहिए और मंत्री जी हिमाचल प्रदेश के है और हिमाचल प्रदेश के अंदर पांवटा साहब भी आता है , अगर घर के मसले मंत्री सुलझाएगा तो विकास कोन करेगा

जितने आरोप इसने उधोग मंत्री ठाकुर हर्षवर्धन चौहान पर लगाएं सब झूठे है बे बुनियाद है ठाकुर हर्षवर्धन चौहान ने प्रशासन को सख्त हिदायत दे रखी है कि गलत काम व अवैध खनन करने वालो को बख्शा नही जाएं जिस कारण चालान भी हो रहे है ,

,मजदूर नेता चाहता है की फैक्ट्रीयों से क्रेशर से मोटी कमीशन मिले ,और इसके लिए मंत्री जी ने मना कर दिया जिसके लिए मंत्री जी के खिलाफ बेतुकी ब्यान बाजी कर रहा है , इससे इसके गाँव के लोग ,पूरा नाहन, पांवटा ,शिलाई का प्रशासन परेशान है ये चाहता है रोजगार बन्द हो ताकि लोग परेशान हो

ठाकुर हर्षवर्धन चौहान जी उधोग पतियों से बैठक के लिए मुम्बई गए है ताकि उधोग हिमाचल में स्थापित हो लोगो को रोजगार मिलें और इसके लिए रात दिन मेहनत भी कर रहे है

और मुम्बई मे उद्योग मंत्री ठाकुर हर्षवर्धन चौहान जी की मौजूदगी में 2 हजार करोड़ के एमओयू पर हस्ताक्षर भी हो गए है मजदूर नेता को उनके प्रति बोलना अपने आप को पांवटा का बड़ा नेता दिखाना है

सुनील चौहान का कहना है कि मजदूर नेता 2022 के चुनाव से पहले माननीय हिमाचल मुख्यमंत्री के पक्ष में एक भी ब्यान हो तो वह बताएं और सुखविंदर सुखु जी के प्रदेश अध्यक्ष होते हुए इसने विरोध किया है ,हिमाचल मुख्यमंत्री में सुखविंदर सिंह सुखु जी का नाम फाइनल होते ही गेम खेल दी ताकि में मुख्यमंत्री के गुड बुक्स में आ जायूँ ,सुनील चौहान का कहना है कि हम उधोग मंत्री के बारे में झूठी बयान बाजी झूठे आरोप नही सुनेंगे और इसके लिए जो भी उचित कदम उठाने पड़े तो उठाएंगे यहाँ तक प्रदेश अध्यक्ष व मुख्यमंत्री को भी इसकी सचाई बताएंगे ,की इसका रवैया मंत्री ,विधायक ,कांग्रेस पार्टी के प्रति व प्रशासन के प्रति कैसा है

मेरा कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष , जिलाध्यक्ष ,व पांवटा ब्लॉक अध्यक्ष से निवेदन है ऐसे लोगो को पार्टी से बाहर करें नही तो ये कल को किसी और मंत्री व विधायक जिला अध्यक्ष ब्लॉक अध्यक्ष व कांग्रेस के वरिष्ठ नेता के खिलाफ उल्टा सीधा बोलेगा,