Paonta sahib: पेंशनरों ने सरकार के खिलाफ जताया रोष…

पांवटा साहिब में पेंशनर्स वेलफेयर एसोसिएशन ने महंगाई भत्ता न मिलने पर जताई आपत्ति..

 

पेंशनर्स वेलफेयर एसोसिएशन पांवटा साहिब की बैठक डा. विपन कालिया की अध्यक्षता में संपन्न हुई। डा. टीपी सिंह महासचिव ने बैठक के बारे में जानकारी देते हुए बताया कि बैठक में पेंशनर्स ने रोष प्रकट किया कि नई बनी सरकार ने अभी तक कोई भी फैसला हमारे हित में नहीं लिया है। केवल ओपीएस की घोषणा मात्र की गई है उसका भी अभी नोटिफिकेशन तक नहीं हुआ है। महंगाई भत्ते की किस्त जनवरी, 2022 से तीन प्रतिशत, जुलाई, 2022 से चार प्रतिशत देय है जो लगभग हर प्रदेश में काफी पहले दी जा चुकी है तथा अब जनवरी, 2023 की भी केंद्र

 

सरकार द्वारा संभावित है। परंतु पेंशनर्स हर कैबिनेट बैठक के बाद निराशा ही पाते हैं। आयु भत्ता पिछली सरकार ने अक्तूबर, 2022 से नए स्केल पर देना तो जारी कर दिया है जिसे पंजाब पद्धति पर मूल पेंशन पर देने की लंबित मांग भी अभी तक पूर्ण नहीं हुई है। इस पर सकारात्मक फैसला लेने का फिर अनुरोध किया गया। 2016 के उपरांत सेवानिवृत्ति वाले पेंशनर्स की पे पेंशन फिक्सेशन के केस महालेखाकार कार्यालय में लंबित है। उन पर शीघ्र कार्रवाई वांछित है। 2016 के पहले के 8-9-2022 के संदर्भ में भी केस महालेखाकार कार्यालय में लंबित है जिनमें जो बुजुर्ग पेंशनर्स को थोड़ा फायदा मिलना है उस पर तुरंत कार्रवाई की जानी चाहिए। चिकित्सा बिलों की समयबद्ध अदायगी व चिकित्सा भत्ता पंजाब पद्धति पर एक हजार प्रतिमाह करने का पुनः अनुरोध किया जाता है। सरकार को जेसीसी की बैठक करके सभी जायज मांग पूर्ण करनी चाहिए। बैठक में अध्यक्ष डा. विपन कालिया सहित डा. टीपी सिंह, शांतिस्वरूप गुप्ता, सुधा कालिया, प्रीतो देवी, एनएस सैणी, बीएस नेगी, विजय पाल चौधरी, बलबीर सिंह, यशपाल सिंह, जितेंद्र दत्त, नंदलाल, अरुण शर्मा, सुंदर लाल मेहता, रजनीश शर्मा, एमएल गुप्ता, भजन सिंह बैंस, सुशील शामिल हुए।