भारतीय किसान यूनियन हिमाचल प्रदेश की बैठक: आपदा एवं रोग लगने से खराब फसलों का मांगा मुआवजा

भारतीय किसान यूनियन हिमाचल प्रदेश की बैठक इकाई के प्रदेश अध्यक्ष तरसेम सिंह सग्गी की अध्यक्षता में हुई संपन..

पांवटा साहिब (सिरमौर)। भारतीय किसान यूनियन (चढूनी) हिमाचल प्रदेश की बैठक विश्राम गृह पांवटा साहिब में आयोजित हुई। बैठक की अध्यक्षता इकाई के प्रदेश अध्यक्ष तरसेम सिंह सग्गी ने की।

इस दौरान किसानों की मांगों और समस्याओं के बारे में विस्तारपूर्वक चर्चा की गई। इसके बाद किसानों ने एसडीएम जीएस चीमा के माध्यम से सरकार को ज्ञापन भेजा है, इसमें पिछली सरकार के दौरान धान फसल को हुई क्षति का मुआवजा शीघ्र प्रदान करने एवं किसानों के हित में उचित कदम उठाने की मांगें रखीं।

 

इस मौके पर तरसेम सिंह सग्गी ने कहा कि इस बार पहाड़ी इलाकों में समय पर बारिश नहीं होने के कारण गेहूं की फसल काफी खराब हो गई है। मैदानी क्षेत्रों में बेवक्त बारिश एवं आंधी से कई किसानों के गेहूं को क्षति पहुंची है।

प्रदेश सरकार इसका मुआवजा प्रदान करे। गेहूं एवं धान खरीद मंडियों में किसानों को सुविधाएं प्रदान की जाएं। उन्होंने कहा कि प्रशासन द्वारा कृषि संबंधी बैठक में किसानों को भी शामिल किया जाए। ताकि वह भी अपनी समस्या रख सकें। पांवटा साहिब में मार्च महीने में बारिश और तूफान के कारण गेहूं की फसल का काफी नुकसान हुआ है। इसका किसानों को मुआवजा दिया जाए।

इस अवसर पर बैठक में तरसेम सिंह, शमशेर अली, गुलजार सिंह, हरजीत सिंह, भूपेंद्र सिंह, साहिब सिंह, हरबंस सिंह, उपेंद्र सिंह, तरण सिंह, दारा सिंह, हरजीत एवं हरदेव सिंह सहित कई किसान मौजूद रहे।