पावटा सिविल हॉस्पिटल में कमीशन खोरी मामले में व्यवस्था परिवर्तन मंच ने दिया एसडीएम को ज्ञापन

पावटा सिविल हॉस्पिटल में कमीशन खोरी मामले में व्यवस्था परिवर्तन मंच ने दिया एसडीएम को ज्ञापन…

 

डॉक्टर के खिलाफ उचित जांच 7 दिनों का दिया अल्टरनेट…

 

पोंटा सिविल हॉस्पिटल में डॉक्टर का कमीशन खोरी का मामला सामने आया था जिसके बाद व्यवस्था परिवर्तन मंच ने एसडीएम विवेक महाजन को ज्ञापन दिया और डॉक्टर के खिलाफ उचित कार्यवाही की मांग की

 

व्यवस्था परिवर्तन मंच के अध्यक्ष सुनील चौधरी ने मीडिया के कैमरे ऑन होते हुए बताया कि पांवटा साहिब का सिविल अस्पताल यूं तो हमेशा से ही विवादों में रहा है मंत्री से लेकर मुख्यमंत्री तक यहां की शिकायतें पहुंचती रही है डाक्टरों के गोरखधंधे में पिस रहे गरीब लोगों का दर्द कोई नहीं सुन पाया, लेकिन इस बार कमीशन खोरी की सारी हदें लांघ कर डाक्टरों ने मरीजों की जेब पर सीधे हाथ डाला है।

 

उन्होंने कहा कि पांवटा अस्पताल में लोगों को मुफ्त सुविधा मिलनी चाहिए वहां पर मरीजों से मोटी रकम ऐंठी जा रही है सिर्फ इतना ही नहीं प्राइवेट अस्पतालों के डॉक्टर और बाहरी जिला के मेडिकल स्टोर से मैंहगी दवाई और दूसरा सामान भी मंगवाया जा रहा है।

 

उन्होंने बताया कि पांवटा सिविल अस्पताल में हड्डी विशेषज्ञ 60 हजार रुपए लेकर आप्रेशन कर रहे हैं इतना ही नहीं बाहर से प्राइवेट डॉक्टरों को भी बुलाया जा रहा है उन्हें भी मोटी कमीशन बटोरने का मौका मिल रहा है ।

 

सुनील चौधरी ने बताया कि पिछले 1 वर्ष भी पावटा सिविल हॉस्पिटल में अल्ट्रासाउंड मशीन बंद थी जिसको लेकर व्यवस्था परिवर्तन मंच में 11 दिन का हॉस्पिटल बाद धरना प्रदर्शन किया था लेकिन उसका भी 1 साल पूरा हो चुका है लेकिन प्रशासन द्वारा अभी तक वह वादा पूरा नहीं किया है उन्होंने कहा कि समय रहते यदि प्रशासन ने डॉक्टर के खिलाफ उचित कार्यवाही और अल्ट्रासाउंड मामले में जो उनके साथ एमओयू साइन प्रशासन ने किया है उस पर उचित कार्रवाई नहीं हुई तो 7 दिनों के भीतर व्यवस्था परिवर्तन मंच फिर से धरना प्रदर्शन कर सकता है।

 

बाईट व्यवस्था परिवर्तन मंच के अध्यक्ष सुनील चौधरी