राजौरी जिले के कंडी इलाके मुठभेड़ में शहीद हुए सिलाई के देवेंद्र नेगी का पार्थिक शरीर पहुंचेगा आज शाम शिलाई

राजौरी जिले के कंडी इलाके मुठभेड़ में शहीद हुए सिलाई के देवेंद्र नेगी का पार्थिक शरीर पहुंचेगा आज शाम शिलाई

मां और बाप ने दुखी मन से बोले बेटे पर गर्व है देश का नाम किया रोशन

राजौरी जिले के कंडी इलाके मुठभेड़ के दौरान आतंकवादियों द्वारा किए गए विस्फोट में सेना के दो जवान शहीद हो गए है जिसमें सिरमोर जिला के देवेंद्र नेगी शहीद हो गए जिनका पार्थिक शरीर उत्तराखंड के रास्ते हिमाचल के पांवटा साहिब पहुंचाया जा रहा है। आज देर शाम तक उनके गांव सिलाई में पार्थिक शरीर पहुंचेगा उनके परिजनों से बातचीत की तो उन्होंने बताया कि पूरे गांव और क्षेत्र में मातम पसरा पड़ा है लोग दिल से दुखी है और बेटे शहीद होने पर क्षेत्र के लोग ने दुख प्रकट भी किया है मां और बाप ने दुखी मन से कहा कि बेटा ने आज देश का नाम रोशन किया है हमें अपने बेटे पर गर्व है

 

दरअसल राजौरी जिले के कंडी इलाके में शुक्रवार को जारी मुठभेड़ के दौरान आतंकवादियों द्वारा किए गए विस्फोट में सेना के दो जवान शहीद हो गए है जबकि एक अधिकारी सहित चार जवान घायल हुये है।
गिरीपार शिलाई गांव के निवासी देवेंद्र नेगी के बहादुर सुपुत्र प्रमोद नेगी के शहादत की सूचना परिवार को सेना के माध्यम से प्राप्त हुई है। शहादत की सूचना प्राप्त होते ही परिवार गांव और क्षेत्र में मातम पसर गया। भूतपूर्व सैनिक संगठन पांवटा साहिब व शिलाई क्षेत्र के पदाधिकारियों ने बताया कि इस विपत्ति की घड़ी में पूरा संगठन शहीद के परिवार के साथ खड़ा है। सभी जरूरी जानकारी जुटाने का प्रयास किया जा रहा है ताकि पार्थिव देह को समय रहते शहीद के पैतृक गांव तक पहुंचाया जा सके। पैराट्रूपर प्रमोद नेगी की शहादत पर पूरे क्षेत्र को गर्व है।
प्रमोद 2017 में “9 पेरा रेजीमेंट” में भर्ती हुए और पिछले दो सालों से भारत की सुरक्षा करने वाली “स्पेशल फोर्स” (SF) में सेवाएं दे रहा था। स्पेशल फोर्स में प्रमोद नेगी को “रेड कैप” से भी सम्मानित किया गया था। प्रमोद नेगी जम्मू कश्मीर के कुपवाड़ा में एक सर्च ऑपरेशन टीम का हिस्सा थे।
सेना द्वारा जारी एक बयान में, एक रक्षा प्रवक्ता ने कहा कि सेना के कॉलम टोटा गली क्षेत्र में सेना के ट्रक पर घात लगाकर हमला करने वाले आतंकवादियों के एक समूह को बाहर निकालने के लिए लगातार खुफिया जानकारी आधारित अभियान चला रहे हैं। खुफिया जानकारी के मुताबिक राजौरी सेक्टर के कंडी जंगल में आतंकवादियों की मौजूदगी की विशेष सूचना पर 03 मई 2023 को एक संयुक्त अभियान शुरू किया गया था। आज लगभग 07ः30 बजे, एक खोज दल ने एक गुफा में अच्छी तरह से घुसे हुए आतंकवादियों के एक समूह के साथ संपर्क स्थापित किया। यह क्षेत्र चट्टानी और खड़ी चट्टानों के साथ घनी वनस्पति से युक्त है। आतंकवादियों ने जवाबी कार्रवाई में एक विस्फोटक उपकरण दागा। “एक अधिकारी सहित चार और सैनिकों के घायल होने के साथ सेना की टीम के दो जवान हताहत हुए हैं।”
जानकारी के अनुसार आसपास से अतिरिक्त टीमों को मुठभेड़ स्थल के लिए निर्देशित किया गया है। “घायल कर्मियों को कमांड अस्पताल, उधमपुर ले जाया गया है।” प्राप्त सूचना के अनुसार आतंकवादी समूह में हताहत होने की संभावना है।