सुशासन सप्ताह के तहत नाहन में जिला स्तरीय कार्यशाला का आयोजन

 

सुशासन सप्ताह के तहत नाहन में जिला स्तरीय कार्यशाला का आयोजन
एक छोटा व नवीन प्रयास समाज और राष्ट्रहित में बड़ा सिद्ध हो सकता है-उपायुक्त
प्रशासन गांव की ओर मुहिम जोर पकड़ने लगी सिरमौर मंे
नाहन, 23 दिसम्बर। सिरमौर जिला मंे सुशासन सप्ताह के अंतर्गत प्रशासन गांव की ओर मुहिम जोर पकड़ रही है। उपमण्डल स्तर पर प्रशासन समस्त विभागों के अधिकारियों की टीम को लेकर गांव में जाकर घर-द्वार पर लोगों की समस्याओं तथा शिकायतों का समाधान करने में जुट गया है। सरकार की इस मुहिम को बल प्रदान करने तथा प्रभावी बनाने के लिये उपायुक्त आर.के. गौतम ने आज नाहन में सुशासन सप्ताह-प्रशासन गांव की ओर कार्यक्रम के तहत एक जिला स्तरीय कार्यशाला का आयोजन किया। कार्यशाला में विभिन्न विभागों ने अपने-अपने विभागांे से सम्बन्धित विभिन्न जनपयोगी कार्यों तथा नये प्रयासों के बारे में अपनी जानकारियां और अनुभव सांझा किये। जिला के सभी एस.डी.एम. वीडियो कांफ्रेस के माध्यम से आॅनलाईन बैठक में शामिल हुए।
उपायुक्त ने सभी विभागों से आग्रह किया कि अधिकारी अपने-अपने विभागों की योजनाओं तथा कायक्रमों से सम्बन्धित भविष्य के लक्ष्यों का एक विजन डाक्यूमेंट तैयार करें। उन्होंने कहा कि सभी विभागों का यह विजन डाक्यूमेंट राष्ट्र स्तर पर तैयार किये जा रहे ‘‘2047-विजन डाक्यूमेंट’’ का भाग बन सकता है। उन्होंने कहा कि किसी भी विभाग का एक छोटा और नवीन प्रयास समाज और राष्ट्रहित में बड़ा और जनपयोगी साबित हो सकता है।
आर.के. गौतम ने कहा सभी विभाग जन सेवा कार्यों और योजनाओं को सुदृढ़ करें और प्रयास करें कि किसी भी व्यक्ति को जनसेवा का लाभ मिलने मेें अनावश्यक देरी न हो। उन्होंने कहा कि सभी विभागों को अपनी-अपनी सेवाओं कों पारदर्शी बनाने के साथ समयबद्ध बनाना चाहिए ताकि पात्र व्यक्ति तक इनका समुचित लाभ पहुंच सकंे।
उन्होंने ने कहा कि सुशासन अभियान के तहत स्वच्छ भारत मिशन के स्वच्छता कार्यक्रम को प्राथमिकता में शामिल करना चाहिए। उन्होंने कूड़े के सही निस्तांतरण प्रक्रिया पर बल देते हुए कहा कि गीले और सूखे कूड़े का सही ढंग से निष्पादन होना चाहिए। खाद्य पदार्थों से निकलने वाले कूड़े से कमपोस्ट तैयार किया जा सकता है और यह प्रयास घरेलु स्तर के अलावा कार्यालयों के स्तर पर भी हो सकता है।
उपायुक्त ने जल संरक्षण को भी सुशासन अभियान का जरूरी हिस्सा बनाने के लिए अधिकारियों से आग्रह किया। उन्होंने कहा कि जल संरक्षण से जुड़े जल शक्ति विभाग, कृषि, उद्यान तथा अन्य सम्बन्धित विभाग प्रयास करें कि वर्षा जल का सही भंडारण कर जल संरक्षण की छोटी-छोटी योजनाएं तैयार की जाएं।
आर.के. गौतम ने सभी अधिकारियों से आग्रह किया कि आम जन की ओर से प्राप्त होने वाले पत्रों और शिकायतों को समयबद्ध ढंग से निपटायंे, साथ ही लिए गए निर्णय की सूचना सम्बन्धित व्यक्ति तक समय पर पहुंचाई जाए।
इस अवसर पर अतिरिक्त उपायुक्त मनेश कुमार यादव, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक सोम दत्त, सहायक आयुक्त मुकेष षर्मा के अलावा, शिक्षा, स्वास्थ्य, जल शक्ति, कल्याण, ग्रामीण विकास व अन्य विभाग के अधिकारी भी उपस्थित थे।
.0.