मैनकाइंड फार्मा पर इनकम टैक्स की रेड…

मैनकाइंड फार्मा पर इनकम टैक्स की रेड, शेयर के गिरे भाव

आज आयकर विभाग की एक बड़ी टीम ने अचानक पांवटा की एक बड़ी दवा कम्पनी मैनकाइंड फार्मा के परिसरों पर टैक्स चोरी के आरोपों के चलते जबरदस्त रेड की है ।

 

ज्ञात रहे कि कंपनी के शेयर बाजार में दो दिन पहले ही लांच किए गए थे। स्थानीय लोग इस छापेमारी को, इससे भी जोड़कर देख रहे हैं।

 

मैनकाइंड फार्मा, देश की चौथी सबसे बड़ी फार्मा कंपनी है, के परिसरों पर आयकर विभाग ने आज अलसुबह छापेमारी की है। आधिकारिक सूत्रों के अनुसार, फार्मा कंपनी पर करोड़ों के टैक्स चोरी के आरोप हैं। कंपनी मात्र दो दिन पहले ही स्टॉक मार्केट में नजर आई थी, शायद उसी के चलते आयकर विभाग ने मैनकाइंड फार्मा के दिल्ली और आसपास के स्थानों में कंपनी के परिसरों की तलाशी और दस्तावेजों की जांच की है। साथ ही, आईटी टीम ने लोगों से पूछताछ भी की। कंपनी के शेयर स्टॉक मार्केट में दो दिन पहले ही लिस्ट हुए थे।

 

मैनकाइंड फार्मा के शेयर आईपीओ के बाद 9 मई को स्टॉक मार्केट में लिस्ट हुए थे। लिस्टिंग के पहले दिन, कंपनी के शेयरों में लगभग 33% प्रतिशत की बढ़ोतरी हुई थी, और शेयर 1,430 रुपये पर बंद हुए। वर्तमान में मैनकाइंड फार्मा का मार्केट कैप 57,045.80 करोड़ रुपये है। शेयर लांचिग के दिन, कंपनी के 12 लाख शेयर बीएसई पर और एनएसई पर 3.31 करोड़ से अधिक शेयरों का जबरदस्त कारोबार हुआ था। मैनकाइंड फार्मा विभिन्न चिकित्सीय क्षेत्रों और उपभोक्ता स्वास्थ्य देखभाल उत्पादों में फार्मास्युटिकल फॉर्मलेशन में निर्माण और आबंटन का कार्य करती है।

कंपनी के दो प्रमुख उत्पाद, मैनफोर्स कंडोम और प्रेगा न्यूज़, बेहद प्रचलित हैं और इनके उत्पादन और रैवन्यू का बड़ा हिस्सा इनसे आता है। मैनकाइंड फार्मा का IPO 25 अप्रैल से 27 अप्रैल तक तीन दिनों के लिए खुला था। इस आईपीओ का प्राइस ब्रैकेट 1,026 से 1,080 रुपये प्रति शेयर और लॉट साइज 13 शेयर था। कंपनी ने आईपीओ में अधिकतम लॉट साइज 14 (182 शेयर) रखा था। आईपीओ पूरी तरह से ऑफर फॉर सेल था, जिसमें 4 करोड़ से अधिक इक्विटी शेयरों की बिक्री हुई थी। कंपनी ने आईपीओ के ऑफर साइज का 50 फीसदी क्वालिफाइड इंस्टीट्यूशनल बायर्स (QIBs) के लिए, 15 फीसदी हाई नेटवर्थ व्यक्तियों (HNIs) के लिए और 35 फीसदी शेयर खुदरा निवेशकों के लिए रिजर्व किया था। इस रेड के चलते स्थानीय लोग रोमांचित हैं और हर कोई यह जानने की कोशिश कर रहा है कि रेड में क्या कुछ निकला है या निकल रहा है। बाजार में अफवाहों का भी बाजार गर्म हो उठा है।