पांवटा रामपुर घाट पुलिस टीम की मदद से टास्क हुआ संभव… पढ़िए पूरा मामला

पांवटा रामपुर घाट पुलिस टीम की मदद से टास्क हुआ संभव… पढ़िए पूरा मामला

हिमाचल प्रदेश के शिमला से लापता हुई कथित दो नाबालिग बच्चियां पांवटा साहिब से बरामद की गई बताया जा रहा है कि इन बच्चियों की लोकेशन रामपुर घाट पहाड़ी और सुदर्शन कॉलोनी आ रही थी।

 

देर रात शिमला बालूगंज थाना से एक पुलिस टीम पांवटा साहिब पहुंची उन्होंने पांवटा पुलिस से संपर्क कर इन बच्चियों को तुरंत ढूंढने में मदद करने के लिए कहा जिसके बाद रामपुर घाट पुलिस चौकी के इंचार्ज दयाल सहित कुछ पुलिसकर्मियों की टीम बनाई गई और इन नाबालिक बच्चियों को ढूंढने का टास्क शुरू किया गया इन बच्चियों की लोकेशन लगातार पहाड़ी कॉलोनी और सुदर्शन कॉलोनी में बदल रही थी लेकिन पुलिसकर्मियों की उस वक्त मुसीबत बढ़ गई जब यह लोकेशन अचानक पांवटा साहिब दिखने लगी रात भर लोकेशंस बदलती रही लेकिन पुलिस ने हार नहीं मानी और इन दो नाबालिग बच्चियों को यमुना किनारे से बरामद कर लिया। पुलिस का मानना है कि बच्चियां काफी परेशान थी उन्हें लेडीस पुलिस द्वारा कॉन्फिडेंस में लिया जा रहा है।

 

बता दें कि बालूगंज पुलिस स्टेशन को सूचना मिली थी एचआरटीसी के माध्यम से है बच्चियां जिला सिरमौर की ओर आई है जिसके बाद पुलिस ने सिरमौर पुलिस से संपर्क किया और इन बच्चों को ढूंढने में मदद मांगी

बता दें कि शिमला से दो नाबालिग बच्चियां कुछ रोज पहले अचानक लापता हो गई थी जिनकी शिकायत बालूगंज थाने में करवाई गई थी अब यह जांच का विषय है कि आखिर यह दो नाबालिग बच्चियां पांवटा साहिब कैसे पहुंची और यह पिछले कुछ दिनों से किसके संपर्क में रह रही थी।

 

वही इस पूरे मामले में बच्चों को ढूंढने के टास्क के दौरान रामपुर घाट इंचार्ज सहित पुलिस टीम द्वारा भरसक प्रयास किए गए जिसके कारण है बेहद मुश्किल काम संभव हो पाया।

 

वही फिलहाल पांवटा पुलिस द्वारा बच्चों को सकुशल बरामद किया गया है और बच्चों को जल्द ही उनके माता-पिता को सौंप दिया जाएगा।