आयुर्वेदिक हॉस्पिटल पांवटा का अब होगा जीर्णोद्धार

उद्योग मंत्री ने पावटा आयुर्वेदिक हॉस्पिटल का किया निरीक्षण

 

नई बिल्डिंग बनाने का दिया आश्वासन

 

यह टूटी फूटी दीवारें किसी खंडहर बिल्डिंग की नहीं है बल्कि पांवटा आयुर्वेदिक हॉस्पिटल की है बिल्डिंग खुद मार है और विकास की राह देख रही है वही मीटिंग की मरम्मत को लेकर आप आप जग चुकी है दरअसल माननीय उद्योग एवं आयुष मंत्री हर्षवर्धन चौहान जी ने राजकीय आयुर्वेदिक अस्पताल पांवटा साहिब के भवन का निरीक्षण किया।इस दौरान आयुष विभाग से जिला आयुष अधिकारी डॉ राजन सिंह, उपमंडलीय आयुष चिकित्सा अधिकारी डॉ जसप्रीत कौर, अस्पताल प्रभारी डॉ कुलदीप शर्मा, वरिष्ट स्पेशलिस्ट डॉ नरेश चौहान, वरिष्ट चिकित्सक डॉ चेतना भी मौजूद रहे।

 

वही विभाग के अधिकारियों द्वारा अस्पताल परिसर का मंत्री को निरीक्षण करवाया गया और भवन की दयनीय स्थिति बारे अवगत कराया गया। मंत्री ने आयुर्वेदिक अस्पताल में संचालित विभिन्न आयुर्वेदिक विधाओं बारे जानकारी ली और भवन की समस्या के शीघ्र समाधान एवं अस्पताल में स्टाफ की कमी को पूरा करने का आश्वासन दिया ताकि आम जनमानस को आयुर्वेद चिकित्सा संबंधी सभी विधाओं जैसे पंचकर्म, अग्निकर्म, क्षारसूत्र एवं मर्म चिकित्सा एवं आयुर्वेद से इलाज करवाने के लिए अंतरंग विभाग जैसी सभी सुविधाओं का पूर्ण लाभ मिल सके।

 

इस मौके पर आयुष विभाग से कमलप्रीत मैं जानकारी देते हुए बताया कि पिछले 6 वर्षों से बिल्डिंग की हालत इतनी जर्जर हो गई है की यहां पर देखने में भी डर लग रहा था लोग उपपचार कराने के लिए आते हैं लेकिन बिल्डिंग की हालत को देखकर दोबारा उपचार कराने के नहीं पहुंची यहां पर रोजाना 120 से 150 की ओपीडी है लेकिन सुविधा का अभाव है पिछली सरकार में भी इस समस्या को उठाया था लेकिन समस्याएं जस की तस बनी रही वहीं आप उद्योग मंत्री ने आश्वासन दिया है कि जल्द नई बिल्डिंग तैयार की जाएगी।

 

बाइट डॉ कमलप्रीत