Paonta sahib News ऑस्ट्रेलिया भेजने के नाम पर ठगे 20 लाख

पांवटा साहिब में हाईप्रोफाइल कबूतरबाज गिरफ्तार

पांवटा साहिब में विदेश भेजने के नाम पर धोखाधड़ी करने वालों पर पुलिस की पैनी नजर है। पुलिस अब ऐसे फर्जी ट्रैवल एजेंट को बख्शने के मूड में नहीं दिख रही, जो विदेश भेजने के नाम पर युवाओं के भविष्य से खिलवाड़ कर रहे हैं। इसी कड़ी में पांवटा पुलिस ने हाईप्रोफाइल कबूतरबाज को गिरफ्तार किया है। आरोपी ने विदेश भेजने के नाम पर पांवटा के तीन लोगों से 20 लाख रुपए ठगे हैं

जानकारी के अनुसार पांवटा पुलिस थाने में तीन लोगों ने शिकायत दर्ज करवाई है कि पांवटा के सूरज पुर गुरद्वारा साहिब में पाठी का काम कर रहे एक 47 वर्षीय व्यक्ति रमनदीप सिंह पुत्र जसपाल सिंह निवासी अंबाला ने उनको ऑस्ट्रेलिया भेजने के नाम पर 20 लाख रुपए ठग लिए हैं। शिकायत मिलने के तुरंत बाद पांवटा थाने की पुलिस टीम एएसआई कृष्ण भंडारी हेड कॉन्स्टेबल हितेंद्र,कॉस्टेबल विकी शर्मा ने मामले में तुरंत कार्रवाई करते हुए जांच शुरू कर दी। इस दौरान उन्होंने सबसे पहले आरोपी की कॉल ट्रेस की। साथ ही पीडितों द्वारा किन-किन अकाउंट नंबर में आरोपी को पैसे डाले गए, उसकी डिटेल लेकर कार्रवाई आगे बढ़ाई। इस दौरान पुलिस को पता चला कि आरोपी गोवा में है, जिसके बाद पुलिस ने जाल बिछा कर मामले के एक हफ्ते के अंदर ही आरोपी को गोवा से गिरफ्तार कर पांवटा लाया गया। बता दें कि आरोपी गोवा में पैसों से ऐश कर रहा था। साथ ही पीडितों से गोवा में रह कर भी विदेश भेजने के नाम से पैसे ले रहा था।

 

इस दौरान पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर उसे अदालत में पेश किया, जहां अदालत ने आरोपी को पांच दिन के पुलिस रिमांड पर भेज दिया है। पुलिस ने बताया कि आरोपी के गिरफ्तार होने के बाद पंजाब, उत्तर प्रदेश व हिमाचल के सोलन से भी लोगों की शिकायत आ रही है, जिसमे लोगो ने आरोपी द्वारा उनके साथ भी विदेश भेजने को लेकर पैसे ठगे हैं। डीएसपी पांवटा मानवेंद्र ठाकुर ने बताया कि पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है व रिमांड के दौरान आरोपी से पूछताछ की जाएगी। डीएसपी पांवटा ने बताया कि आरोपी पहले खुद भी ऑस्ट्रलिया रहता था व उसके बाद पांवटा आया था। वह पांवटा सूरजपुर गुरुद्वारा साहिब में पहले सेवदार का काम करता था, बाद में गुरुद्वारा साहिब में ही पाटी बना, जिस कारण लोग उसके झांसे में आ गए। इस दौरान उन्होंने लोगों से अपील करते हुए कहा कि लोग विदेश जाने के चक्कर में ठगो के झांसे में न आएं।