कारों पर सीधे 2.5 लाख की सरकारी छूट,

कारों पर सीधे 2.5 लाख की सरकारी छूट,

फर्क नहीं पड़ता मिडिल क्लास हैं
या अमीर,

एकदम हिट और फिट है ये फॉर्मूला

सरकार इलेक्ट्रिक वाहन को बढ़ावा देने के लिए तमाम रणनीति अपना रही है. कंपनियां भी ई-वाहन की पहुंच बढ़ाने के लिए कई तरह की छूट और सब्सिडी दे रही हैं. अगर आप भी अपने लिए इलेक्ट्रिक कार खरीदने की प्‍लानिंग कर रहे हैं तो हम आपको कुछ ऐसे राज्‍यों की जानकारी दे रहे हैं, जहां से इलेक्ट्रिक कार खरीदने पर आपको लाखों रुपये की छूट मिल जाएगी.

केंद्र सरकार ने इलेक्ट्रिक कारों की बिक्री बढ़ाने के लिए बाकायदा फेम-2 नाम से योजना भी बना रखी है. इसके तहत केंद्र की ओर से मिलने वाली सब्सिडी तो सभी राज्‍यों को दी जाती है. आप किसी भी राज्‍य में ई-वाहन खरीदते हैं आपको यह सब्सिडी मिल जाएगी. लेकिन, कुछ राज्‍य भी अपनी तरफ से सब्सिडी देते हैं और इसका फायदा आप संबंधित राज्‍यों से ई-वाहन खरीदकर उठा सकते हैं..

भारत में कार, बस या ट्रक चलाने के लिए ड्राइविंग लाइसेंस (Driving License) की जरूरत होती है. बिना ड्राइविंग लाइसेंस के गाड़ी चलाना दंडनीय अपराध है. इसी तरह हवाई जहाज उड़ाने के लिए भी पायलट के पास लाइसेंस होना जरूरी है. अब सवाल यह उठता है कि क्‍या भारत में ट्रेन चलाने के लिए भी पहले ड्राइविंग लाइसेंस बनवाना पड़ता है. क्या ट्रेन चालक (Loco Pilot) के पद पर आवेदन करने से पहले लाइसेंस होना अनिवार्य है? इन दोनों ही सवालों का उत्‍तर ना है……

 

 

कुश्ती महासंघ के अध्यक्ष बृजभूषण शरण सिंह के खिलाफ पहलवानों के विरोध प्रदर्शन के बीच एक भड़काऊ ट्वीट वायरल है. यह ट्वीट डॉ. एनसी अस्थाना आईपीएस रिटायर्ड ( Dr. NC Asthana, IPS, Retd) के हैंडल से किया गया है. इस ट्वीट में पोस्टमॉर्टम टेबल पर मिलने की बात की गई है. यह भी कहा गया है कि जरूरत हुई तो गोली भी मारेंगे. इस पर ओलंपियन बजरंग पूनिया का जवाब भी आया है. उन्होंने जवाब दिया है- भाई सामने खड़े हैं, बता कहाँ आना है गोली खाने… लोकप्रिय कवि कुमार विश्वास ने भी डॉ. एनसी अस्थाना के ट्वीट पर कड़ी प्रतिक्रिया दी है. आइए जानते हैं कि सारा मामला क्या है.

ओलंपिक में मेडल जीत चुके बजरंग पूनिया, साक्षी मलिक, विनेश फोगाट, संगीता फोगाट समेत कई पहलवान रविवार को नई संसद के पास कुश्ती महासंघ के अध्यक्ष बृजभूषण शरण सिंह के खिलाफ नारेबाजी कर रहे थे. पहलवान संसद के करीब बैरीकेड्स पार करने की कोशिश कर रहे थे. लेकिन पुलिस ने उन्हें रोक दिया. इतना ही नहीं पुलिस ने विनेश फोगाट समेत कई पहलवानों से धक्कामुक्की की. बीजेपी सांसद बृजभूषण शरण सिंह पर यौन शोषण के आरोप हैं.

पुलिस के व्यवहार पर बजरंग पूनिया का बयान आया, हमें गोली मार दो. बजरंग पूनिया के इसी बयान पर डॉ. एनसी अस्थाना आईपीएस रिटायर्ड ( Dr. NC Asthana, IPS, Retd) के हैंडल से ट्वीट किया गया, ‘ज़रूरत हुई तो गोली भी मारेंगे। मगर, तुम्हारे कहने से नहीं. अभी तो सिर्फ कचरे के बोरे की तरह घसीट कर फेंका है. दफ़ा 129 में पुलिस को गोली मारने का अधिकार है. उचित परिस्थितियों में वो हसरत भी पूरी होगी. मगर वह जानने के लिये पढ़ालिखा होना आवश्यक है. फिर मिलेंगे पोस्टमॉर्टम टेबल पर!’