Paonta sahib: यातायात के लिए खुला बांगरण पुल…उद्योग मंत्री हर्षवर्धन चौहान ने शुभारंभ कर लोगों को सौंपी सौगात

उद्योग मंत्री हर्षवर्धन चौहान ने शुभारंभ कर लोगों को सौंपी सौगात

 

उद्योग, संसदीय मामले और आयुष मंत्री हर्षवर्धन चौहान ने विधिवत रूप से 1.25 करोड़ से जीर्णोंद्वार हुए बांगरण पुल का वाहनों की आवाजाही के लिए शुभारंभ किया। उन्होंने कहा कि पांवटा उपमंडल के तहत लगभग 30 करोड़ रुपए से अधिक की राशि के विकास कार्य प्रगति पर हैं। उन्होंने जानकारी देते हुए बताया कि बांगरण पुल के अलावा 11.50 करोड़ रुपए की लागत से गुरु गोविंद सिंह डिग्री कालेज नया भवन पांवटा साहिब, 3.95 करोड़ रुपए की लागत से संपर्क मार्ग शमशेरपुर से नवादा वाया हीरपुर मतरालियों रामपुरघाट, संपर्क मार्ग गोरखुवाला से खोड़ोंवाला वाया दुधला 2.34 करोड़ रुपए, पुरूवाला से डोबरी सालवाला सडक़ की टारिंग 28 लाख रुपए, श्यामपुर भूड़ से मानपुर देवड़ा गुरुवाला सडक़ की 26 लाख से टारिंग, पांवटा पुरुवाला, सिंघपुरा, भंगानी गोजर, डाकपत्थर सडक़ एक करोड़ रुपए, 4.75 करोड़ की लागत से अमरगढ़ जोहड़ों, क्यारदा जगतपुर आईपीएच कालोनी माजरा सडक़ का उन्नयन, पांच करोड़ की लागत से बाता नदी पर संतोषगढ़ पुल से गांव फतेहपुर संपर्क सडक़ निर्माण इसमें शामिल हैं।

 

हर्षवर्धन चौहान ने कहा कि पूर्व की भाजपा सरकार प्रदेश में 75 हजार करोड़ रुपए का कर्ज छोडक़र गई है। उन्होंने कहा कि इसी दिशा में प्रदेश में शराब के ठेकों में 40 प्रतिशत की बढ़ौतरी की गई जिसके परिणामस्वरूप प्रदेश को 700 करोड़ का राजस्व मिला है। उद्योग मंत्री ने कहा कि प्रदेश सरकार ने 2.31 लाख महिलाओं को एक जुलाई से 1500 रुपए पेंशन प्रदान करने की स्वीकृति प्रदान की है।उन्होंने कहा कि पूर्व की भाजपा सरकार को साढ़े चार साल के कार्यकाल में प्रदेश के विकास की याद नहीं आई और अंतिम वर्ष में बिना बजट प्रावधान के संस्थान खोल दिए गए। उद्योग मंत्री ने कहा कि अंबोया को औद्योगिक क्षेत्र घोषित किया गया है, जिसके फलस्वरूप पांवटा क्षेत्र में ओर अधिक नए उद्योग स्थापित किए जाएंगे। उन्होंने कहा कि आज जिस बांगरण पुल का जीर्णोंद्वार हुआ है उसका पूर्व सरकार के नुमाइंदे आज इस पुल का निरीक्षण कर रहे हैं, जबकि पूर्व में उन्होंने इस पुल पर ध्यान नहीं दिया। पूर्व विधायक किरनेश जंग चौधरी ने अपने संबोधन में अंबोया को औद्योगिक क्षेत्र घोषित करने पर सरकार का धन्यवाद किया।