6 महीनों से पानी की बूंद बूंद को तरसे ग्रामीण पहुचे अधिशासी अभियंता के दरबार

IPH विभाग की लापरवाही का खामियाजा भुगत रहे क्लाथा बढ़ाना के ग्रामीण…

गर्मी ने अभी अपने पैर पसारने शुरु ही किए हैं की लोगों को पीने के पानी की दिक्कत आनी शुरु हो गई है, तो आने वाले दिनों में पानी की सप्लाई के हालात क्या होंगे, इसका सहज अंदाजा लगाया जा सकता है। वही जिला सिरमौर के विकासखंड पांवटा साहिब की ग्राम पंचायत क्लाथा बढ़ाना के गांव हथिरा, डगर, बस्ताना व एससी बस्ती के ग्रामीणों का एक प्रतिनिधिमंडल पानी की समस्या को लेकर अधिशासी अभियंता सिंचाई एवं जन स्वास्थ्य विभाग पांवटा साहिब से मिला। साथ ही ग्रामीणों ने मांग की है कि उठाऊ पेयजल योजना क्लाथा-डांडा (LWSS -2) पर कार्यरत ऑपरेटर और लाइनमैन को वहां से स्थानांतरण किया जाए। तथा ग्रामीणों को पीने के पानी की समस्या का समाधान किया जाए।

 

विकासखंड पांवटा साहिब की ग्राम पंचायत क्लाथा बढ़ाना के पूर्व प्रधान शेर सिंह, इंदिरा देवी, सुरमी देवी, नरेंद्र सिंह, नारायण सिंह, अनिल कुमार, मीरा देवी, रेखा देवी, धर्मी देवी, केहर सिंह, विकेश तोमर, पंचराम तोमर, अनु देवी, आशा देवी व प्रियंका देवी आदि ग्रामीणों ने बताया कि गांव हथिरा, डगर, बस्ताना व एससी बस्ती के ग्रामीणों के लिए उठाऊ पेयजल योजना क्लाथा-डांडा (LWSS -2) से पानी आता है

मगर पिछले 6 महीने से ग्रामीणों को पानी ना मिलने के कारण भारी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। विभाग के अधिकारियों को कई बार फोन पर जानकारी देने के बावजूद भी स्थिति जस की तस बनी हुई है। संबंधित विभाग की लापरवाही के चलते स्थानीय ग्रामीण कई किलोमीटर दूर से सर पर पानी ढोने के लिए मजबूर है। जिसके चलते ग्रामीण भारी परेशानियों का सामना कर रहे हैं।

 

ग्रामीणों ने बताया कि 1998 से अभी तक टैंक की मरम्मत नहीं की गई है इसकी मरम्मत की जाए। साथ ही उन्होंने कहा कि इस उठाओ पेयजल योजना में आए दिन मोटर खराब रहती है। मोटर के साथ-साथ बिजली का मीटर भी जला हुआ है इसे अभी तक नहीं बदला गया है।

उन्होंने कहा कि लाइनमैन भी लाइन में बहुत कम आते हैं और ना ही ग्रामीणों के फोन उठाते हैं वह ज्यादातर अपने व्यक्तिगत काम में व्यस्त रहते है। साथ ही ग्रामीणों ने अधिशासी अभियंता IPH पांवटा साहिब से मांग कि है कि इस उठाऊ पेयजल योजना पर कार्यरत ऑपरेटर और लाइनमैन का वहां से स्थानांतरण किया जाए। क्योंकि स्थानीय निवासी होने के कारण कोई भी उन्हें कुछ नहीं बोल पाता है जिसके चलते अक्सर वह अपनी ड्यूटी से नदारद रहते है और इसका खामियाजा स्थानीय ग्रामीणों को भुगतना पड़ रहा है।

 

वही अधिशासी अभियंता IPH पांवटा साहिब अरशद रहमान ने बताया कि पानी की समस्या को लेकर प्रतिनिधिमंडल मिला है। उन्होंने कहा कि पानी की समस्या का जल्द समाधान किया जाएगा ताकि ग्रामीणों को सुचारू रूप से पानी मिल सके।