पांवटा साहिब में चोरी करते रंगे हाथों दबोचा नशेड़ी

शहर में दिन-प्रतिदिन बढ़ती जा रही वारदातें, नशे की हालत में और पूर्ति के लिए हो रही चोरियां..

 

गुरु की नगरी पांवटा साहिब एक ओर जहां उत्तराखंड, उत्तर प्रदेश और हरियाणा तीन राज्यों की सीमा से घिरे होने के कारण यहां लोगों की आवाजाही अधिक रहती है। वहीं औद्योगिक क्षेत्र होने ही वजह से भी यहां पर दैनिकभोगियों के लिए व्यवस्था अधिक रहती है। इसी के चलते शहर में चोरी की घटनाएं दिनोंदिन बढ़ रही हैं। पांवटा साहिब संवेदनशील शहर होने की वजह से यहां पर नशा चोरी, लूटपाट व अवैध खनन जैसी समस्याएं दिनोंदिन विकराल रूप धारण कर रही है। इसके अलावा ज्यादातर युवा नशे का सेवन कर रहे हैं व नशा खरीदने के लिए चोरी की वारदात को अंजाम देते हैं। बता दें कि शनिवार रात को भाटिया पैलेस के सामने एक ग्रिल बनाने की दुकान में एक चोर को दुकान के मालिक द्वारा चोरी करते हुए रंगे हाथों पकड़ा। इस दौरान वहां ओर भी लोग पहुंच गए। लोगों का कहना है कि यह चोर नशे का आदी है, जिसके कारण उनकी दुकानों में भी चोरी कर चुका है।

 

चोर को पकडऩे के बाद लोगों द्वारा उसे पुलिस के हवाले कर दिया गया। चोर ने अपना नाम शाहिद पुत्र दिलशाद निवासी कुल्हाल बताया। चोरी के दौरान भी शाहिद ने नशा किया हुआ था। बता दें कि पांवटा आए दिन चोरी के ग्राफ में काफी इजाफा हुआ है। नशे की बात की जाए तो पांवटा में नशा तो आम हो रहा है। पांवटा साहिब के देवीनगर में इसका जीता जागता उदाहरण है। यहां पर अधिकतर इसका सेवन करने वाले युवा पीढ़ी नशे की चपेट में आ रही है। युवकों के पास नशे को लेने के लिए पैसे नहीं होते यह चोरी की घटना को अंजाम देते हैं। निशानिया सवाल यह है कि इन सभी घटनाओं को रोकने के लिए आखिर कौन जिम्मेवार होगा। वैसे तो पांवटा पुलिस आए दिन नशे कारोबारियों के खिलाफ कार्रवाई कर रही है। उधर डीएसपी पांवटा मानवेंद्र ठाकुर से बात की गई तो उन्होंने बताया कि पुलिस अवैध नशे का कारोबार कर रहे माफियाओं के खिलाफ कार्रवाई कर रही है। नशे की हालत में चोरी की वारदातों को अंजाम दे रहे चोरों के खिलाफ भी पुलिस द्वारा कार्रवाई की जा रही है।