रामपुर घाट में माइनिंग इंस्पेक्टर अघवा मामला ठंडे बस्ते में

माइनिंग गार्ड के सदस्यों ने उद्योग मंत्री को दी शिकायत…

 

निर्वाचन क्षेत्र पोंटा साहिब के रामपुर घाट में कुछ महीने पहले माइनिंग इंस्पेक्टर को अगवा माइनिंग गार्ड से मारपीट करने का प्रयास का मामला सामने आया था लेकिन मामला ठंडे बस्ते में चल रहा है जिसके चलते अब माइनिंग गार्ड के सदस्यों ने पूछो मंत्री को शिकायत किया इस मांग को पुरजोर खाने की मांग की है।

माइनिंग गार्ड के सदस्यों ने मीडिया को जानकारी देते हुए बताया कि रेत बजरी माफिया चंद्र सिक्कों के लालच में यमुना नदी और गिरी नदी में खनन कर रहे हैं जिससे राजस्व विभाग को लाखों के चप्पल लगती है इस संबंध में जब माफियाओं को रोकने के लिए उनकी टीम पहुंची तो रेत बजरी माफियाओं कहीं या खनन चोरी करने वाले दलालो ने माइनिंग इंस्पेक्टर को अगवा किया था जिसके बाद स्थानीय थाना में शिकायत दर्ज कराई गई लेकिन लंबे समय होने के बावजूद भी आरोपी श्रेआम घूम रहे हैं और पुलिस रेत बजरी माफियाओं को पकड़ने में बोनी साबित हो रही है।

 

माइनिंग गार्ड के टीम के सदस्यों ने माना कि इस तरह की घटनाओं पर गंभीरता से ठोस कदम नहीं उठाए गए तो आने वाले वक्त में कोई बड़ी अप्रिय घटना भी हो सकती है।

बता दें कि उस दौरान पुलिस थाना पुरुवाला में आईपीसी की धारा-353.364 व 334 के तहत मामला दर्ज किया गया है। लेकिन अभी तक कोई ठोस कदम पुलिस टीम ने नहीं उठाए हैं जिसके चलते उद्योग मंत्री को शिकायत देनी पड़ी।

 

माइनिंग गार्ड सिटी ने बताया कि मंत्री ने एसपी सोमदत्त को सख्त निर्देश दिए हैं कि तुरंत इस मामले में दूध का दूध और पानी का पानी होना चाहिए और दोषियों के खिलाफ सख्त से सख्त अमल में लाई जाए।