कानूनी नोटिस के बाद पुलिस ने सुधारी गलती, पूर्व डिप्टी सीएम की गाड़ी के चालान से जुड़ा है मामला

कानूनी नोटिस के बाद पुलिस ने सुधारी गलती, पूर्व डिप्टी सीएम की गाड़ी के चालान से जुड़ा है मामला

देव भूमि हिमाचल के साथ लगते राज्य हरियाणा के पूर्व उपमुख्यमंत्री चंद्रमोहन की एंडेवर कार को बाइक बनाकर चलान करने की गलती को हिमाचल पुलिस ने चंद्रमोहन के वकील दीपांशु बंसल एडवोकेट द्वारा लीगल रिप्रेजेंटेशन भेजे जाने के बाद स्वीकार करते हुए माननीय अदालत द्वारा प्रोसिडिंग ड्रॉप के आदेश बारे भी सूचित किया है।इसको लेकर एसपी सिरमौर ने दीपांशु बंसल को सूचित करते हुए बताया कि ट्रेफिक पुलिस पर तैनात सब इंस्पेक्टर ने गलती से चंद्रमोहन की एंडेवर का चालान कर दिया जबकि असल में वह चालान किसी अन्य वाहन का था।इसके साथ ही एसपी सिरमौर ने हिमाचल पुलिस की गलती को भी स्वीकार किया है तो वही सब इंस्पेक्टर को सख्त चेतावनी देकर भविष्य में सचेत रहकर कार्य करने की चेतावनी देने बारे भी सूचित किया है। प्रमुख्तः एसपी सिरमौर ने अपने पत्र में यह भी बताया कि चंद्रमोहन की एंडेवर गाड़ी के लिए किए गए चालान की कोर्ट प्रोसिडिंग को भी न्यायालय ने ड्रॉप कर दिया है जिसके लिए माननीय सीजेएम अदालत नाहन ने 13 मई 2023 को प्रोसिडिंग ड्रॉप के आदेश भी जारी कर दिए है।हालांकि इस मामले को लेकर पिछले दिनों हिमाचल पुलिस की लापरवाही का मजाक भी बना था जहां एक एंडेवर गाड़ी का बिना हेलमेट का चालान जारी किया गया था।

गौरतलब है कि हिमाचल की पूर्व की भाजपा सरकार के समय कथित रूप से 25 जुलाई 2022 को हरियाणा के पूर्व उप मुख्यमंत्री चंद्रमोहन की एंडेवर गाड़ी का ई चालान हिमाचल पुलिस ने उनके नंबर पर 29 अप्रैल 2023 को भेज दिया था जिसके बाद 2 मई 2023 को चंद्रमोहन के वकील दीपांशु बंसल ने इस ई चालान को लेकर को गई बड़ी लापरवाही के बारे वर्तमान के मुख्यमंत्री सुखविंद्र सिंह सुक्खू समेत डीजीपी हिमाचल प्रदेश,एसपी सिरमौर को एक रिप्रेजेंटेशन भेजी थी।चंद्रमोहन की यह गाड़ी उनकी धर्मपत्नी सीमा बिश्नोई के नाम पर है।

दीपांशु बंसल एडवोकेट ने एसपी सिरमौर द्वारा बिना किसी विलंब के अमल में लाई गई कार्यवाही के लिए वर्तमान में हिमाचल सरकार के बेहतर प्रशासनिक व्यव्यस्था की तारीफ भी की है।उनका कहना है कि पूर्व की हिमाचल पुलिस में जारी किया गया ई चालान अपने आप में ही निराधार था,क्योंकि जिस गाड़ी के नंबर का ई चालान भेजा गया था वह फोर्ड एंडेवर गाड़ी है जबकि चालान बिना हेलमेट के बाइक चलाने का था,इतना ही नहीं भेजे गए ई चालान में भी फोटो बाइक की ही दिखाई दे रही थी।ऐसे में एंडेवर गाड़ी का चालान बिना हेलमेट के चलाने का किया जाना अपने आप में हास्यपद है।किसी बाइक का चालान चंद्रमोहन की एंडेवर पर भेजा जाना पूर्व की भाजपा हिमाचल सरकार को एक बड़ी लापरवाही थी।

चंद्रमोहन के वकील दीपांशु बंसल द्वारा अधिकारियों को भेजे गए नोटिस में इस ई चालान को निरस्त करने के लिए एक महीने का समय दिया गया था और पुलिस प्रशासन द्वारा दिए गई समयवली में चालान को जहां एक तरफ निरस्त ही नहीं किया गया वही जिम्मेवार अधिकारी को भी सचेत करने की कार्यवाही की है जिससे भविष्य में ऐसे मामले सामने ना आए।