हिमाचल प्रदेश में कानून व्यवस्था बिगड़ी बलदेव तोमर

हिमाचल प्रदेश की वर्तमान कांग्रेस सरकार, सुखविन्द्र सुक्खू की सरकार पूरे प्रदेश के अंदर स्वयं ही कानून व्यवस्था की स्थिति बिगाड़ने में लगी है। यह आरोप भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता एवं शिलाई के पूर्व विधायक बलदेव तोमर ने जारी बयान में लगाए है।

 

बलदेव तोमर ने कहा कि चंबा में जो दुर्दात हत्याकांड हुआ उसने कानून व्यवस्था को बिगाड़ने में कांग्रेस पार्टी की सरकार ने अहम भूमिका निभाई है। समय रहते कार्यवाही न करना और जनता का विश्वास कार्यवाही न करने से सरकार पर से उठ जाना, यही वजह है कि अभी तक इतने दिन बीत जाने पर भी चंबा का जनमानस उद्वेलित है, आक्रोशित है, ऐजिटेटिड है। उन्होंने कहा कि नालागढ़ में पुलिस की लापरवाही से, एक व्यक्ति की कथित असावधानी से एक व्यक्ति की मृत्यु हो जाती है जिससे जनता में रोष स्वाभाविक है। सिरमौर में पुलिस राह चलते युवकों पर प्रहार करती है, युवक के कान का पर्दा फट जाता है और न सरकार, न प्रशासन, काई व्यक्ति गौर नहीं करता और कानून

 

व्यवस्था बिगड़ने लगती है। बलदेव तोमर ने कहा कि ऊना में दिन दिहाड़े छुरा बाजी होती है, सरकार जागती नहीं है और कानून व्यवस्था लचर होती है। शिमला में झगड़ा होता है, सिर फूटते हैं और सरकार के मंत्री झगड़े में घी डालने का काम करते हैं और पूरी सरकार गुत्थमगुत्था हो जाती है तथा कानून व्यवस्था चरमराती है।

 

ऐसा प्रतीत होता है कि यह अव्यवस्था स्टेट स्पोंस्ड है तथा सरकार के लोगों द्वारा ही प्रदेश की शांति को बिगाड़ने का काम किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि भाजपा का मानना है कि सरकार कांग्रेस द्वारा दी गई 10 गारंटियों से भागने के लिए जनता का ध्यान भटकाने के लिए उन्हें आपस में लड़ा में लगी है और प्रदेश की स्थिति को बिगाड़ रही है।