हिमाचल की टॉप 5 खबरें एक क्लिक में

कांग्रेस विधायक हर्षवर्धन चौहान, रोहित ठाकुर, अनिरुद्ध सिंह ने शिमला में एक ज्वाइंट प्रेस कांफ्रेंस की.

हर्षवर्धन चौहान ने कहा जयराम ठाकुर सरकार ने पिछले छह माह में 900 संस्थान ने खोले. ये संस्थान वित विभाग के ऑब्जेक्शन और बिना

 

मापदंड के खोले गए . ये जारी रहते तो इससे
4500 करोड़ का बोझ पड़ता.

उन्हों कहा कि मौजूदा सरकार ने कैबिनेट के फैसले से इनको डेनोटिफाई किया है

उन्होंने कहा कि एमएलए ने इस पर विचार विमर्श किया है लेकिन फ़ैसला कैबिनेट ने लिया है
बीजेपी के कोर्ट जाने पर कहा कि हम वहां पर अपना पक्ष रखेंगे
उन्होंने कहा कि जयराम सरकार ने 75 हजार करोड़ का कर्ज छोड़ा है.इसके अलावा
5 हजार करोड़ देनदारी है जो कर्मचारियों के नए वेतनमान और डी ए किश्त का देना है.

 

भाजपा के संस्थान बंद करने पर आंदोलन करने पर सीएम सुखविंदर सिंह सुक्खू ने कहा कि
जयराम सरकार ने 590 संस्थान खोल दिए, आज तक के सभी सीएम ने इतने संस्थान नहीं खोले हैं. जयराम सरकार ने पी एच सी जो खोले है वो चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी के सहारे चल रहे हैं, 25 से 30 सेंटर मे चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी नही भी नहीं.
सीएचसी जो खोले उनमें एक एक डॉक्टर है,
नए सीएचसी के लिए पुराने से डॉक्टर भेज दिए, नई भर्ती नहीं की.
उन्होंने कहा कि नए संस्थान खोल कर जयराम सरकार ने 3000 करोड़ रुपए का बोझ डालने का काम किया है.
सुक्खू ने कहा कि
डबल इंजन सत्कार ने पहले साढ़े चार साल ये संस्थान क्यों नहीं खोले .उन्होंने कहा कि जयराम सरकार ने राजनीतिक रोटियां सेकने का काम किया है, इस पर भी जनता ने उनको नकार दिया.
उन्होंने सवाल किया कि जो नए संस्थान खोले हैं, उनमें क्या उसमे स्टाफ की जरूरत नही थी.

उन्होंने कहा कि उनकी सरकार पहले कर्मचारी की भर्ती करेंगे.
बीजेपी के इस मसले पर कोर्ट जाने की दमकी पर सीएम ने कहा कि बीजेपी कोर्ट जल्दी जाए ताकि हम कोर्ट को बता सकें कि पिछली सरकार ने क्या किया,
उन्होंने कहा कि हम जनता की अदालत में जाएंगे, और बताएंगे कि जो संस्थान खोले है उनके लिए न बजट रखा है और न ही कर्मचारी है।

 

टांडा मेडिकल कॉलेज में नेहा क़ी हुई मौत

मा अपने बच्चे को देखबे से पहले हीं हुई इस दुनिया से रुख़सत

अस्पताल क़ी गलती से हुई नेहा क़ी मौत

दो दिन से आई सी यू में लड़ रही थी मौत से जंग

डिलीवरी के समय नस काटने के कारण नहीं रुक रही थी ब्लीडिंग़

अस्पताल प्रशांशान पर लग रहे गंभीर आरोप

परिजनों ने शव को उठाने से किया इंकार

डॉक्टरो क़ी लापरवाही से हुई नेहा क़ी मौत

 

Breaking
शिमला
नगर निगम चुनाव की प्रक्रिया शुरू
पांच वार्डों में मतदाता सूची प्रक्रिया शुरू करने के आदेश

राज्य निर्वाचन आयोग ने जारी किए आदेश
मतदाता सूची की प्रक्रिया में नियुक्त किसी भी कर्मचारी का स्थानांतरण बिना आयोग की अनुमति से नहीं होगा
31 जनवरी तक हो जाएगा मतदाता सूची का अंतिम प्रकाशन

 

अनूप रत्न हिमाचल हाईकोर्ट के एडवोकेट जनरल नियुक्त

शिमला
प्रदेश सरकार ने हिमाचल प्रदेश उच्च न्यायालय के एडवोकेट जनरल की नियुक्ति कर दी है.
अनूप रत्न हिमाचल प्रदेश हाई कोर्ट के नए एडवोकेट जनरल बनाए गए हैं.

मंगलवार को प्रदेश सरकार ने इसकी अधिसूचना जारी कर दी. इससे पहले पूर्व वीरभद्र सिंह सरकार के समय में अनूप रत्न 2013 से 2017 तक अत्तिरिक्त एडवोकेट जनरल भी रह चुके हैं. अनूप रत्न साल 1998 से प्रदेश उच्च न्यायालय में अधिवक्ता के रूप में कार्य कर रहे हैं.उन्होंने 1995 से 1998 तक हिमाचल प्रदेश विश्वविद्यालय से कानून की पढ़ाई की है.।