Paonta Sahib: पांवटा पुलिस थाना में पुलिस कर्मियों की कमी..

Paonta Sahib: पांवटा पुलिस थाना में पुलिस कर्मियों की कमी..थाने-पुलिस चौकियों में नहीं है 50 प्रतिशत तक भी पुलिस कर्मी

 

डीएसपी पांवटा साहिब के अंतर्गत पांवटा, माजरा व पुरुवाला थाना क्षेत्र में कई आपराधिक मामले पेंडिंग पड़े हैं। क्षेत्र में चोरी, अपराध व यातायात व्यवस्था भी सुचारू नहीं चल रही है। जिसका मुख्य कारण थानों में पुलिस जवानों की कमी को बताया जा रहा है। पांवटा साहिब थाने सहित माजरा, पुरुवाला थाने व चौकी में भी स्टाफ न के बराबर है। प्राप्त जानकारी के अनुसार पांवटा थाने में पहले एक इंस्पेक्टर सहित पांच सब-इंस्पेक्टर, सात एएसआई, 12 हेड-कांस्टेबल व 46 महिला व पुरुष कांस्टेबल थे। जबकि अब पांवटा थाने में एक इंस्पेक्टर के साथ सिर्फ एक एएसआई, छह हेड-कांस्टेबल, 31 कांस्टेबल, पांच महिला कांस्टेबल के अलावा 38 होमगार्ड के जवान हैं। इस तरह पांवटा के साथ लगती चौकियों में भी दो-दो जवान ही मौजूद हैं। इसके अलावा माजरा थाने में भी एक सब-इंस्पेक्टर के अलावा दो एएसआई समेत चार हेड-कांस्टेबल ही मौजूद है। जबकि पांवटा साहिब में ट्रैफिक को देखते हुए यातायात व्यवस्था सुचारू रूप से चलाने के लिए पुलिस जवानों की जरूरत है परंतु यहां ट्रैफिक इंचार्ज कोई नहीं है, जबकि ट्रैफिक पुलिस में दो हेड-कांस्टेबल सहित 12 कांस्टेबल ही मौजूद हैं।

 

बता दें कि पांवटा साहिब उत्तराखंड, हरियाणा व उत्तर प्रदेश की सीमा के साथ लगता हुआ शहर है जहां आपराधिक घटना ज्यादा होती है। इसके अलावा सीमाओं पर भी पुलिस बल तैनात रहता है। क्षेत्र में नशा तस्कर खनन माफिया का जोर है। इसके अलावा चोरी की वारदात भी होती रहती है। ऐसे में पांवटा व माजरा थाने में पुलिस स्टाफ की कमी के कारण कई मामले पेंडिंग पड़े हैं व कई मामलों की जांच के लिए एनजीओ की भी कमी हो रही है। इसके अलावा महिला संबंधित मामले निपटाने के लिए कोई भी महिला एसआई या एएसआई रैंक की कोई भी महिला अधिकारी थानों में नहीं है। पांवटा व माजरा में मामलों का अनुसंधान करने के लिए उनके पास एएसआई स्तर के जवान भी नहीं है जिससे अनेक मामले बिना खुलासों के पेंडिंग ही चल रहे हैं तथा क्षेत्र में आए दिन हो रही चोरी एवं लूटपाट की घटनाओं पर भी अंकुश लगाने में कामयाबी नहीं मिल पा रही है। थाने में जवानों की कमी को लेकर कई बार पांवटा के पुलिस अधिकारियों द्वारा उच्च अधिकारियों सूचित किया जा चुका है, लेकिन स्टाफ की कमी पूरी नहीं हो पा रही है। उधर इस बारे में जब एसपी सिरमौर रमन कुमार मीणा से बात की गई तो उन्होंने बताया कि जल्द से जल्द पांवटा व माजरा थाने में स्टाफ की कमी को पूरा किया जाएगा, ताकि पांवटा में कानून व्यवस्था को सुचारू रूप से चलाया जा सके।