पांवटा साहिब में सड़कें और पुल चढ़े भ्रष्टाचार के भेद

पांवटा साहिब में सड़कें और पुल चढ़े भ्रष्टाचार के भेद

भ्रष्टाचार को बढ़ावा देने वाले PWD विभाग के अधिकारियों की खैर नहीं प्रदीप चौहान

 

 

पांवटा साहिब कितनी सड़कें और भ्रष्टाचार की भेंट चढ़ गए हैं यह बात किसी से छुपी नहीं है पोंटा साहिब में गलियों के भ्रष्टाचार नालियों में भ्रष्टाचार ऐसे कई मामले उजागर हो चुके हैं पर अब हिमाचल में ऐसे मामलों पर अब बिल्कुल रोक लग जाएगी हिमाचल में स्वच्छ छवि के मुख्यमंत्री बनाए गए हैं।

मैं मजदूर नेता बताना चाहता हूं कि पावटा से पुरुवाला गोजर सड़क में जो डिस्ट्रिक्ट का दर्जा तो दिया गया लेकिन 5 साल लगातार इसमें सड़क की अनदेखी की गई मरम्मत के नाम पर लाखों रुपए खर्च कर दिया जाता है।

 

आँज भोज को जोड़ने वाले सड़क पिछले 5 वर्षों से लगातार पैच वर्क किए जाते हैं लेकिन एक महीने बाद ही वह पेचवर्क उखड़ जाते हैं। यह सबसे बड़ा भ्रष्टाचार है।

 

बागरण पुल पर पिछले 5 वर्षों में कितना खर्च हुआ है उसका पूरा ब्योरा लिया जाएगा मैं सभी अधिकारियों से स्पष्ट तौर पर कहना चाहता हूं कि अब भ्रष्टाचार को बढ़ावा देना बंद करें अन्यथा आप सभी के लिए भी सही नहीं होगा।

पीडब्ल्यूडी विभाग के अधिकारियों ने जो पुल और सड़कों पर भ्रष्टाचार को बढ़ावा दिया है उसकी हर रिपोर्ट सीएम तक पहुंचाई जाएगी उन पर कार्रवाई भी करवाई जाएगी पांवटा साहिब में हर बार सड़कों को पक्का किया जाता है और करोड़ों रुपए खर्च कर दिए जाते हैं लेकिन अगर एक बार ही सड़कों को सही ढंग से बना दिया जाए तो कभी भी दोबारा खर्चा नहीं होता।